ज्वांइट मजिस्ट्रेट की एचआरडीए कार्यालय में छापेमारी, कई कर्मचारी मिले अनुपस्थित

0
495

रुड़की। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अंशुल सिंह द्वारा आज एचआरडीए कार्यालय में छापेमारी की गयी। छापेमारी की इस कार्यवाही के दौरान मौके पर हड़कंप मच गया और एई से लेकर कई कर्मचारी अनुपस्थित पाये गये। जिनकी अनुपस्थिति लगाने के साथ रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजे जाने की बात भी जेएम द्वारा कही गयी। इस दौरान एई, जेई एवं अन्य कर्मियों को कार्यश्ौली में सुधार लाने की नसीहत जेएम ने दी और समय से कार्यालय पहुँचने के की हिदायत दी। साथ ही प्रत्येक एई और जेई को दिन में कम से कम 10 नोटिस काटने का टारगेट भी दिया गया है।
बता दें कि मुख्यमंत्री धामी का कड़ा रूख भांपते हुए इन दिनों सरकारी कार्यालयों के औचक निरीक्षण की कार्यवाही की जा रही है। इस कड़ी में आज ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट रुड़की अंशुल सिंह एचआरडीए कार्यालय में सुबह दस बजे से पहले ही पहुँच गए। इस दौरान उन्होने कार्यालय का निरीक्षण करने के साथ ही उपस्थिति रजिस्टर अपने कब्जे में ले लिया और 10 बजकर 20 मिनट तक कार्यालय आने वालों को उपस्थिति लगाने का मौका इस हिदायत के साथ दिया गया कि वह प्रतिदिन समय से कार्यालय में उपस्थित रहेगें। इस दौरान एई उमापति भटृ समेत कई कर्मचारी कार्यालय नही पहुँचे। बताया जा रहा है कि एई ने ग्रुप में छुटृी का प्रार्थना पत्र डाला था। इस पर जेएम ने कहा कि जो भी कर्मचारी अवकाश पर जाए वह उनसे अवकाश ले। एई भटृ की अनुपस्थिति जेएम ने लगाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही गैर हाजिर रहे कर्मचारियों की भी अनुपस्थिति लगाई गयी। ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट अंशुल सिंह ने कहा कि सभी कर्मचारी समय से कार्यालय उपस्थित हों अगर कोई फील्ड में है तो अपनी लाईव लोकेशन ऑफिसियल व्हाट्सएप ग्रुप में शेयर करे। छापेमारी के दौरान कर्मचारियों में हड़कम्प मचा रहा। इस दौरान ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट अंशुल सिंह ने कहा कि प्रत्येक एई जेई प्रतिदिन 10 नोटिस काटेंगे, शुरुआत आज से करें और पांच नोटिस काटें। कहा कि सभी का एरिया डिवाइड होगा और वह अपने एरिये में काम करेगा। नोटिस का टारगेट पूरा न होने पर बताना होगा कि वहां कोई अवैध निर्माण नही चल रहा है फिर ज्वाइन्ट मजिस्ट्रेट इसकी जांच करेंगे या करवाएंगे। उन्होने कहा कि किसी गरीब व्यक्ति को नाजायज परेशान न किया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here