हर की पैड़ी कारीडोर से मिलेगी हरिद्वार को नई पहचान

0
172

काशी विश्वनाथ की तरह भव्य व दिव्य बनेगा हरिद्वार

देहरादून। काशी विश्वनाथ की तर्ज पर हर की पैड़ी कारीडोर बनाने की कवायद तेजी से आगे बढ़ रही है अगर सब कुछ योजना के अनुरूप रहा तो बहुत जल्द हरिद्वार को नई पहचान मिल जाएगी।
एचआरडीए द्वारा इसका प्रस्ताव सरकार को भेजा गया है। जिस पर सरकार द्वारा सहमति जताई जा चुकी है। इस प्रस्ताव को जैसे ही कैबिनेट की मंजूरी मिलती है इसके बाद इस पर काम शुरू हो जाएगा। खुद सीएम धामी का यह एक महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट बताया जा रहा है। उनका कहना है कि काशी विश्वनाथ की तरह हरिद्वार भी एक दिव्य और भव्य स्वरूप में दुनिया के सामने होगा।
हरिद्वार के जिलाधिकारी विनय शंकर पांडे का कहना है कि प्रस्ताव के अनुसार इस काम को पांच अलग—अलग चरणों में बांटा गया है। पहले चरण में हर की पैड़ी क्षेत्र में काम शुरू होगा लेकिन इसके बाद अन्य चार चरणों में हरिद्वार के सभी प्रमुख मंदिरों को इसके दायरे में लाया जाएगा। उनका कहना है कि इसका डिजाइन और प्लानिंग तैयार किया जा चुका है बस सरकार द्वारा इसकी स्वीकृति मिलते ही काम शुरू हो जाएगा।
उधर हर की पैड़ी कारीडोर निर्माण को लेकर साधु—संतों और अखाड़ों में भी खासा उत्साह है। उनका कहना है कि देश विदेश से हरिद्वार हर साल करोड़ों लोग आते हैं लेकिन हरिद्वार और हर की पैड़ी की व्यवस्थाएं आज भी वैसी ही है अगर हरिद्वार में कारीडोर बनाया जाता है तो इससे हरिद्वार को नई पहचान ही नहीं मिलेगी बल्कि राज्य के पर्यटन को भी इससे बढ़ावा मिलेगा। सती कुंड, मनसा देवी मंदिर, भारत माता मंदिर सहित तमाम अन्य धार्मिक महत्व के स्थान इस कारीडोर के माध्यम से जुड़ सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here