श्रद्धालुओं का पहला जत्था हेमकुंड साहिब रवाना

0
282

सीएम धामी ने दिखाई हरी झंडी, गुरुद्वारे में टेका मत्था
20 मई को खुलेंगे कपाट, वृद्ध व बच्चों को ना लाए साथ

ऋषिकेश। सिख समुदाय के तीर्थ स्थल हेमकुंड साहिब के कपाट 20 मई को खोले जाएंगे इसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। आज ऋषिकेश स्थित हेमकुंड गुरुद्वारे पहुंचे मुख्यमंत्री ने पहले मत्था टेका और फिर हेमकुंड साहिब जाने वाले पहले जत्थे को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री धामी ने सभी तीर्थ यात्रियों को सुखद और सुगम तीर्थ यात्रा की शुभकामनाएं देते हुए कहा है कि यह हमारे लिए गौरव की बात है कि एक तरफ जहां देवभूमि में चार धाम स्थित हैं वही सिख समुदाय का तीर्थ स्थल भी है। उन्होंने कहा कि मौसम की तमाम विसंगतियों के बीच यात्रा की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्हें उम्मीद है कि हर साल की तरह इस साल भी हेमकुंड साहिब में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचेंगे।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उनके असाधारण प्रयास के कारण जहां बद्री—केदार धाम की यात्रा सुगम और सरल हो सकी है वही आने वाले वर्षों में हेमकुंड साहिब की यात्रा भी उतनी ही आसान होने वाली है। उन्होंने कहा कि हेमकुंड साहिब के रोपवे निर्माण का काम शुरू हो चुका है। इस रोपवे के बनने से बूढ़े और कमजोर लोग भी आसानी से हेमकुंड साहिब पहंुच सकेंगे। कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए उन्होंने कहा कि 55—60 साल सत्ता में रहने के बाद भी कांग्रेस सरकार ने वह नहीं सोचा जो भाजपा 9 साल में कर रही है। हेमकुंड साहिब प्रबंधन समिति द्वारा श्रद्धालुओं के लिए एडवाइजरी भी जारी कर दी गई है। पांच हजार फीट की ऊंचाई और बर्फीले रास्तों के मद्देनजर समिति ने वृद्ध व बच्चों को साथ न लाने की अपील की है। इस अवसर पर राज्यपाल गुरमीत सिंह, शहरी विकास मंत्री प्रेमचंद्र अग्रवाल व पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज भी मौजूद रहे। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में संगत भी मौजूद रही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here