दो विषय में फेल छात्र भी हो सकेंगे पास

0
344

इको टूरिज्म की नई पॉलिसी को हरी झंडी
गोवंश भरण पोषण के लिए अब 80 रूपये रोज

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में आज सचिवालय में हुई कैबिनेट बैठक में 16 प्रस्तावों पर विचार मंथन किया गया तथा शिक्षा विभाग व पर्यटन से जुड़े कई अहम मुद्दों को मंजूरी दी गई।
आज कैबिनेट की बैठक लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए मुख्य सचिव एसएस संधू ने बताया कि अब तक राज्य में दो विषय में फेल होने वाले छात्रों को कंपार्टमेंट परीक्षा देने का अधिकार नहीं था। जिस कारण उनकी पढ़ाई का एक साल खराब हो जाता था लेकिन अब वह दो सब्जेक्ट में फेल होने वाले छात्र भी कंपार्टमेंट परीक्षा के लिए आवेदन कर सकेंगे और ऐसा करने से सभी छात्रों को अपना एक साल बचाने का मौका मिल सकेगा जो दो सब्जेक्ट में फेल हो जाते हैं। उन्होंने बताया कि अशासकीय विघालय में प्रबंध समिति के लिए होने वाले चुनाव 3 साल में ही कराए जाएंगे।
मुख्य सचिव ने बताया कि आज की कैबिनेट बैठक में सरकार ने नई इको टूरिज्म पालिसी को भी मंजूरी दे दी है। जिसके अनुसार राज्य में जितने भी नए ईको टूरिज्म केंद्र बनेंगे उनसे उनकी कुल आय का 10 फीसदी हिस्सा ही कोषागार में जमा कराया जाएगा बाकी उन केंद्रों के विकास पर खर्च होगा। लेकिन 5 करोड़ से ज्यादा को ट्रेजरी में जमा कराना होगा। उन्होंने बताया कि चाइल्ड केयर लीव (एकल अभिभावक) की अवधि 2 साल तय कर दी गई। जो बच्चे के 18 साल की आयु सीमा तक ही होगी। विकलांगता की स्थिति में यह उम्र सीमा लागू नहीं होगी।
आज कैबिनेट की बैठक में एक अन्य प्रस्ताव निराश्रित गोवंश को लेकर किया गया जिसके अनुसार निराश्रित गोवंश के भरण पोषण के लिए अब तक तो 30 रूपये सरकार द्वारा दिया जाता था उसे अब 80 रूपये प्रतिदिन कर दिया गया है। क्योंकि 30 रूपये प्रतिदिन किसी पशु के लिए पर्याप्त नहीं माना जा रहा था। इसके अलावा भी आज की कैबिनेट बैठक में कई अहम फैसले लिए गए जिसमें जमरानी बांध प्रभावितों के लिए 300 एकड़ जमीन देने और नुजूल नीति को एक साल आगे बढ़ाने के फैसले सहित अन्य कई फैसले भी शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here