भूकंप : 149 घंटे बाद मलबे से निकाला गया शख्स

0
293


अंकारा। तुर्की और सीरिया में पिछले सोमवार को आए भीषण भूकंप से अब तक 33 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। खबर आ रही है कि एक शख्स को 149 घंटे बाद मलबे से बाहर जिंदा निकाला गया है। वाकई यह एक चमत्कार है, कई देशों से पहुंची रेस्क्यू टीमों ने 100 घंटों से ज्यादा देर तक फंसे लोगों को बचाया है। इस शख्स को जिंदा सुरक्षित निकालने वाली रेस्क्यू टीम रूस, किर्गिस्तान और बेलारूस की है।
तुर्की के हटे में मलबे के नीचे दबे 35 वर्षीय मुस्तफा सरिगुल को 149 घंटों बाद बचाया गया। वह मिर्गी रोग से पीड़ित हैं। पीड़ित का रेस्क्यू करने के बाद उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। शुक्रवार को 104 घंटे बाद बचावकर्मियों ने एक ढही हुई इमारत के मलबे से एक महिला को जिंदा बाहर निकाला था। भूकंप के चार दिन बाद गैजियांतेप स्थित एक इमारत से बचाव कर्मियों ने 17 वर्षीय अदनान मुहम्मद कोरकुत को जिंदा निकाला था। वह, 94 घंटे से मलबे में दबा था और अपना ही पेशाब पीकर जिंदा रहा।
समाचार एजेंसी अनादोलु के अनुसार कहारनमारस प्रांत के ओनिकीसुबत जिले में सोमवार को आए विनाशकारी भूकंप के बाद 11 मंजिला इमारत के मलबे के नीचे से 26 वर्षीय मोहम्मद हबीप को बचाया गया।
फतमा ओयेल को भूकंप के 138 घंटे बाद अंटाक्या जिले में एक ढह गई इमारत के मलबे से निकाला गया था। गंजियांटेप में भूकंप के 133 घंटे से अधिक समय बीतने के बाद इमारत के मलबे में दबी तेरह वर्षीय एस्मा सुल्तान काे भी निकाला गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here