चारधाम यात्रा पर पहला दल रवाना

0
545

पूर्व काबीना मंत्री यतिस्वरानंद ने दिखाई हरी झंडी
सुगम व सुरक्षित होगी चारधाम यात्राः महाराज

हरिद्वार/देहरादून। 3 मई से शुरू होने वाली चारधाम यात्रा के लिए आज हरिद्वार से श्रद्धालुओं के पहले दल को पूर्व काबीना मंत्री यतिस्वरानंद द्वारा हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।
हरिद्वार के माया देवी प्रांगण में आज गुजरात से आए 40 सदस्यीय दल को स्वामी यतिस्वरानंद द्वारा फूल माला पहनाकर उन्हें सफल यात्रा की शुभकामनाएं दी गई। यह दल 2 मई को गंगोत्री धाम पहुंचेगा तथा 3 मई को गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट खोले जाएंगे। गुजरात से आए इन यात्रियों ने सरकार की तैयारियों पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि वह चारधाम यात्रा पर आकर हर्ष का अनुभव कर रहे हैं सरकार ने यात्रा की अच्छी तैयारियां की है।
उधर पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने आज यात्रा टर्मिनल का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा सभी संभव तैयारियां कर ली गई हैं। उन्होंने कहा कि हर एक धाम में एक निर्धारित संख्या में श्रद्धालुओं को भेजा जाएगा जिससे वह आसानी से दर्शन कर सके और उनके रहने—खाने की उचित व्यवस्था हो सके। उन्होंने कहा कि गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में 5 से 6 हजार तथा केदारनाथधाम में 15 हजार व बद्रीनाथ धाम में 10 हजार यात्री रोज दर्शन कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि यात्रियों को पर्यटन की वेबसाइट पर अपना रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी है तथा यात्रा पर आने के लिए किसी तरह की कोरोना जांच की कोई जरूरत नहीं है लेकिन मास्क व सैनिटाइजेशन जरूरी है। गंगोत्री और यमुनोत्री मार्ग पर 6 स्वास्थ्य केंद्र बनाए गए हैं जिनमें सभी इमरजेंसी सेवाएं उपलब्ध होगी। डॉक्टरों की टीम में तैनात कर दी गई हैं।
उल्लेखनीय है कि केदारनाथ धाम के कपाट 6 मई तथा बद्रीनाथ धाम के कपाट 8 मई को खुलेंगे। इसके साथ ही 3 मई से यात्रा निरंतर जारी रहेगी। प्रशासन द्वारा केदारनाथ मार्ग पर भीमवली व लिंचोली सहित तीन पड़ाव स्थलों पर 7 से 8 हजार तक यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था टेंट लगाकर की गई है। सतपाल महाराज ने कहा है कि मुख्यमंत्री के साथ—साथ वह खुद तथा तमाम अधिकारी यात्रा की तैयारियों पर नजर बनाए हुए हैं जिससे श्रद्धालुओं की यात्रा सुगम और सुरक्षित बनाई जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here