उत्तराखंड में वर्ष 2022 में हुए 872 बलात्कार के अपराध दर्ज

0
284


देहरादून। उत्तराखंड जैसे शांत व महिलाओं के लिये सुरक्षित माने जाने वाले राज्य में गंभीर अपराधों में सर्वाधिक बलात्कार के अपराध दर्ज होना अत्यन्त चिन्ताजनक है। डकैती, लूट, फिरौती के लिये अपहरण तथा दहेज हत्या के अपराध तो हर जिले में नहीं हुये जबकि बलात्कार के अपराध प्रत्येक जिले में दर्ज हुये है।
यह खुलासा सूचना अधिकार कार्यकर्ता नदीम उद्दीन को पुलिस मुख्यालय द्वारा उपलब्ध करायी गयी सूचना से हुआ है। उपलब्ध विवरण के अनुसार वर्ष 2022 में उत्तराखंड में कुल 1321 गंभीर अपराध हुये हैं। इसमें 872 बलात्कार, 19 डकैती, 170 लूट, 187 हत्या, 3 फिरौती के लिये अपहरण तथा 70 दहेज हत्या के अपराध शामिल है। उत्तराखंड के 13 जिलों में वर्ष 2022 में 872 बलात्कार के अपराध दर्ज हुये है जिसमें सर्वाधिक 247 उधमसिंह नगर दूसरे स्थान पर 229 हरिद्वार तथा तीसरे स्थान पर 184 देहरादून जिले में दर्ज हुये हैं। बलात्कार के सबसे कम 1 अपराध रूद्रप्रयाग जिले में दर्ज हुआ है। अन्य जिलों में नैनीताल में 103, अल्मोड़ा में 16, पिथौरागढ़ में 17, बागेश्वर में 10, चम्पावत में 7, उत्तरकाशी में 13, टिहरी गढ़वाल में 15, चमोली में 9 तथा पौड़ी गढ़वाल जिले में 20 बलात्कार के अपराध दर्ज हुये हैं। रेलवे पुलिस (जी.आर.पी) में भी 1 अपराध दर्ज हुआ है।
सबसे गंभीर माना जाने वाले अपराध हत्या के भी कुल 187 अपराध हुये है। जिसमें सभी 13 जिलों के अपराध शामिल है। सर्वाधिक 49 हत्याएं उधमसिंह तथा दूसरे स्थान पर 39 हरिद्वार तथा तीसरे स्थान पर 34 देहरादून जिले में हुई हैं। सबसे कम 1 हत्या का अपराध चमोली जिले में हुआ है। अन्य जिलों में 22 नैनीताल, 2 अल्मोड़ा, 4 पिथौरागढ़, 5 बागेश्वर, 4 चम्पावत, 6 उत्तरकाशी, 3 टिहरी गढ़वाल, 4 रूद्रप्रयाग, 14 पौड़ी गढ़वाल जिले में हत्या के अपराध शामिल है।
डकैती के 19 अपराध वर्ष 2022 में उत्तराखंड के केवल पांच जिलों में हुये हैं। इसमें सर्वाधिक 8 हरिद्वार, 5 उधमसिंह नगर, 4 देहरादून तथा 1-1 नैनीताल व अल्मोड़ा में हुये हैं। लूट के 170 अपराध 9 जिलों में हुये हैं। इसमें सर्वाधिक 62 देहरादून, 40 उधमसिंह नगर, 37 हरिद्वार, 19 नैनीताल, 3-3 अल्मोड़ा व पिथौरागढ़ तथा जी.आर.पी, 1-1 बागेश्वर, टिहरी गढ़वाल, चमोली जनपद में हुये हैं। फिरौती हेतु अपहरण (364ए) के 3 अपराध उत्तराखंड के केवल दो जिलों में हुये है। इसमें 2 उधमसिंह नगर तथा 1 हरिद्वार जनपद का अपराध शामिल है। दहेज हत्या के 70 अपराध उत्तराखंड के 9 जिलों में हुये हैं। इसमें सर्वाधिक 24 उधमसिंह नगर, 20 हरिद्वार, 9 नैनीताल, 8 देहरादून, 3-3 पिथौरागढ़ व टिहरी गढ़वाल, 1-1 बागेश्वर, चम्पावत तथा पौड़ी गढ़वाल में हुये है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here