यूपी में जीएसटी छापों के डर से व्यापारियों में हड़कंप, बाजारों में सन्नाटा

0
86

लखनऊ। यूपी में नगर निगम चुनाव से पहले वस्तु एवं सेवा कर की टीमों के छापे से व्यापारी परेशान देखे जा रहे हैं। पूरे प्रदेश में जीएसटी की टीमें पहुंच रही हैं और टैक्स चोरी पाए जाने पर जुर्माना वसूल रही हैं। छापों के डर से बाजारों में सन्नाटा देखा जा रहा है। कई जगहों पर व्यापारियों के विधायकों और मंत्रियों के घेराव करने की भी खबरें हैं। व्यापारियों का आरोप है कि छापे की आड़ में उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। ललितपुर जिले में कई व्यापारियों ने राज्यमंत्री मनोहर लाल पंथ और बीजेपी विधायक रामरतन कुशवाहा के आवास का घेराव कर दिया। इन व्यापारियों का कहना था कि रजिस्टर्ड व्यापारियों के प्रतिष्ठानों पर ही जीएसटी की टीमें छापे मारने पहुंच रही हैं. ईमानदार व्यापारियों को परेशानी उठानी पड़ रही है. सर्वे छापे की आड़ में इंस्पेक्टर राज और भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिल रहा है।आरोप है कि जांच में कुछ टेक्निकल खामियां निकाली जाती हैं और फिर कार्रवाई का दबाव डाला जाता है। प्रतिष्ठानों को सीज करने की धमकी दी जाती है।बाद में बिना टैक्स एसेसमेंट किए पेनाल्टी जमा करवाई जाती है। औरेया, फिरोजाबाद, औरेया, झांसी, महोबा, कानपुर, ललितपुर समेत लगभग सभी जिलों में जीएसटी की टीमें छापेमार कार्रवाई कर रही हैं। बताया जा रहा है कि हालत ये हैं कि जीएसटी टीम की रेड की अफवाह से ही पूरे मार्केट की धड़ाधड़ शटरें गिरा दी जाती हैं। बाजार में कुछ ही पलों में सन्नाटा छा जाता है. जो दुकानें रजिस्टर्ड नहीं हैं या फिर उन्हें कार्रवाई का डर सता रहा है, वे दुकानें बंद करके घरों में बैठे हैं। सपा, कांग्रेस समेत विपक्षी दल भी इसे मुद्दा बनाने की कोशिश में जुटे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर हमला बोला है। अखिलेश ने कहा- उत्तर प्रदेश के सभी व्यापार संगठनों को संयुक्त रूप से जीएसटी की पक्षपातपूर्ण छापेमारी का विरोध करना चाहिए। सपा हर व्यापारी के साथ है. व्यापारियों के प्रति नकारात्मक दृष्टिकोण यूपी में घटते व्यापार को और घटायेगा। ये छापेमारी भ्रष्टाचार का नया तरीका है। निंदनीय। फिरोजाबाद के कई इलाकों में जीएसटी विभाग के अधिकारी दुकानों पर जाकर सर्वे कर रहे हैं। जसराना में सर्वे किया गया, जिसके डर से दुकानदार परेशान हो गए. शिकोहाबाद में भी तीन अलग-अलग दुकानों पर सर्वे किया गया. गुस्साए व्यापारियों ने गांधी पार्क स्थित भारत माता पार्क के सामने एक मीटिंग की। व्यापारियों का कहना है कि उन्होंने जुर्माने समेत टैक्स भी जमा करा दिया, इसके बावजूद परेशान किया जा रहा है. व्यापारियों ने पहले जिलाधिकारी को पूरी स्थिति से अवगत कराया. उसके बाद भाजपा के सदर विधायक मनीष असीजा के आर्यनगर स्थित घर जाकर एक ज्ञापन सौंपा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here