यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामलाः अपर सचिव न्याय विभाग गिरफ्तार

0
386

अभी तक हो चुकी हैं 16 गिरफ्तारियां

देहरादून। यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में एसटीएफ ने सचिवालय से न्याय विभाग के अपर नीजि सचिव को गिरफ्तार कर लिया है। एसटीएफ ने उक्त प्रकरण में अभी तक 16 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।
आज यहां इसकी जानकारी देते हुए स्पेशल टास्क फोर्स के एसएसपी अजय सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2021 में 4 व 5 दिसम्बर को उत्तराखण्ड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा स्नातक स्तरीय परीक्षा का आयोजन किया गया था। जिसमें 160000 अभ्यार्थियों ने परीक्षा दी थी तथा 916 अभ्यर्थी चयनित हुए थे। इस परिक्षा पर कई संगठनों ने गडबडी का आरोप लगाया था जिसके बाद मुख्यमंत्री के आदेश पर मामले में रायपुर थाने में मुकदमा दर्ज कर जांच एसटीएफ को सौप दी गयी थी। एसटीएफ ने अपनी जांच करते हुए इस मामले में शूरवीर सिंह चौहान, कुलवीर सिंह स्वामी डेल्टा कोचिंग सेन्टर करनपुर, मनोज जोशी पीआडी पूर्व कर्मचारी यूकेएसएसएससी रायपुर, गौरव नेगी, जयजीत दास प्रोग्रामर, प्रिटिंग प्रेस लखनऊ, मनोश जोशी कनिष्ठ सहायक सितारगंज न्यायालय, अभिषेक वर्मा कर्मचारी प्रिन्टिंग प्रेस लखनऊ, दीपक चौहान मेडिकल यूनिवर्सिटी हेमवती नंदन बहुगुणा सेलाकुई में संविद कर्मी, भावेश जगूडी मेडिकल यूनिवर्सिटी सेलाकुई संविद कर्मी, दीपक शर्मा, अमरीश कुमार उत्तराखण्ड पुलिस आरक्षी ऊधमसिंह नगर, महेन्द्र चौहान कनिष्ठ सहायक नैनीताल न्यायालय, हिमांशु काण्डपाल कनिष्ठ सहायक रामनगर न्यायालय, तुषार चौहान व गौरव चौहान अपर निजी सचिव सचिवालय को अभी तक गिरफ्तार कर लिया गया था। इन सभी के खिलाफ पेपर लीक कर अभ्यार्थियों से पैसे लेना सिद्ध हो गया था तथा पुलिस ने इनके कब्जे से 83 लाख रूपये नगद बरामद कर लिया। आज एसटीएफ ने सचिवालय में तैनात भानूप्रताप निवासी ग्राम निवाड मंडी जसपुर जनपद ऊधमसिंह नगर जोकि न्याय विभाग में अपर निजी सचिव के पद पर तैनात है तथा इसके खिलाफ एसटीएफ को पुख्ता साक्ष्य मिले जिसमें इसकी मामले मे संलिप्ता पायी गयी है को आज गिरफ्तार कर लिया गया है जिसको न्यायालय में पेश किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here