छात्र ने प्रिंसीपल को जिंदा जलाया

0
291

मध्य प्रदेश। जुलाई 2022 की मार्कशीट बार—बार मांगने के बावजूद न दिये जाने से नाराज छात्र ने फार्मा विभाग की प्रिंसीपल को पेट्रोल छिड़क कर जिंदा जला दिया। घटना में प्रिंसिपल 80—90 प्रतिशत झुलस गईं जिन्हे अस्पताल में भर्ती कराया गया जहंा उनका उपचार किया जा रहा है। वहीं आरोपी छात्र को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
जानकारी के अनुसार बीती शाम 5 बजे सिमरोल थाना क्षेत्र में स्थित प्राइवेट कॉलेज के फार्मा विभाग की प्रिंसिपल विमुक्ता शर्मा छुटृी के बाद घर जाने के लिए पार्किंग में खड़ी अपनी कार के पास पहुंची। इस दौरान उज्जैन के नागदा का रहने वाला आशुतोष श्रीवास्तव जो कि कॉलेज का पूर्व छात्र था उनके सामने आ गया। विमुक्ता कुछ समझ पातीं उसके पहले ही आशुतोष ने अपने हाथ में लिए डिब्बे में भरा पेट्रोल प्रिंसिपल पर छिड़का और उनको आग लगा दी। बताया जा रहा है कि प्रिंसीपल को आग के हवाले कर आरोपी मौके से भाग निकला। आग की चपेट में आईं प्रिंसिपल विमुक्ता की चीखने—चिल्लाने की आवाज सुनकर कॉलेज के सुरक्षाकर्मी और अन्य स्टाफ उनकी ओर दौड़े और उन्हे निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। साथ ही सिरमोर थाना पुलिस को भी घटना की जानकारी दे दी गई। बताया जा रहा है कि विमुक्ता 80—90 प्रतिशत झुलस गई हैं और उनकी हालत गंभीर है।
वहंीं प्रिंसिपल को आग के हवाले करने के दौरान आरोपी आशुतोष का हाथ और सीना जल गया। घटना को अंजाम देने के बाद वह तिंछा फॉल चला गया और वहां जाकर आत्महत्या करने की फिराक में था। जिसे पुलिस ने वहंी से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी आशुतोष ने बताया कि उसने कॉलेज से पढ़ाई की थी। वह सातवें सेमेस्टर में फेल हो गया था, इसके बाद 7वें और 8वें सेमेस्टर की परीक्षा साथ में दी थी। परीक्षा का रिजल्ट जुलाई 2022 को आने के बाद भी बार—बार कहने के बावजूद उसकी मार्कशीट नहीं दी जा रही थी, इसी बात के चलते उसने गुस्से में उक्त घटना को अंजाम दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here