कलश यात्रा के साथ शिवमहापुराण का शुभारंभ

0
183

देहरादून। मालदेवता जो सिद्ध क्षेत्र है प्राचीन शिव मंदिर है। जहां पर अनेक मनोकामना पूर्ण होती हैं। अनेक संतो ने तपस्या करी सिद्धियां प्राप्त की जो कि सोंग नदी के तट पर कुमालड़ा द्वारा थेवा के बीच मे विराजमान शकर का स्वरुप है। अतिश्योत्तिQ नहीं है जो पिपल पेड़ के नीचे विराजमान हैं। किसी सन्त ने अपने शिष्य को पीपल के पते लाने को कहा वह पते सोने और चांदी में बदल गए यहाँ पर तपस्या करने वालो को मालामाल बनाया शंकर ने।
यहाँ पर स्थानीय लोगो ने शिवपुराण की कथा से पहले खैरी विलेश्वर महादेब मन्दिर से दो नाली होते हुए हजारों की सँख्या में महिलाएं सिर पर कलश लिए पीत वस्त्रों में बम बम बोले के नारों से जय जय कार करते हुए पूर्व जिलाध्यक्ष वर्तमान भाजपा के कार्यकारिणी के सदस्य शमशेर सिंह पुंडीर द्वारा पुराण को सिर पर लिए ढोल दमो की थाप सभी ब्राह्मण द्वारा वेद मंत्रों से भगवान शंकर का अभिषेक किया गया।


शमशेर सिंह पुंडीर जी ने कहा यह शिवपुराण समस्त क्षेत्र की खुशहाली के लिए 25 से 2 अगस्त तक चलेगा।
वही कथावाचक आचार्य शिवप्रसाद ममगाईं ने कहा शिव शब्द का अर्थ कल्याण होता है ई कार हट जाने से शव बन जाता है मानव देह प्राप्त करके दूसरे का कल्याण करने वाला व्यत्तिQ मानव की श्रेणी में अग्रसर होता है। इस समय पुरूषोत्तम मास में श्रावण का महत्व इसलिय बढ़ जाता है कि यह श्रावण पुरूषोत्तम मास है क्योंकि भगवान शंकर के इष्ट विष्णु और विष्णु के इष्ट शंकर है। इसमें शिवपुराण श्रवण करना जप तप करना दोगुना फल देने वाला होता है महात्म्य में चंचुला प्रषंग के माध्यम से।
आचार्य ममगाईं ने कहा कि मनुष्य का चरित्र ही उसकी सही सम्पत्ति है जो हर जगह सम्मान और सुख प्राप्त करता है आज विशेष रूप से पूर्व जिला भाजपा अध्यक्ष एवं प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य शमशेर पुंडीर पूर्व प्रदान सुरेश पुंडीर पूर्व प्रधान अजय चौहान सामाजिक कार्यकर्ता राकेश पुंडीर रघुवीर सिंह जयाड़ा आचार्य बिशम्बर दत्त आचार्य शत्तिQधर प्रधान जी वर्तमान विकास क्षत्री सतो देवी उषा देवी सुनीता क्षेत्री ग्राम प्रधान सुंदर पुंडीर नरेश पुंडीर प्रसन्ना देवी सुरेश कैंतुरा कुंदन सिंह मोहन सिंह विक्रम सिंह शकुंतला देवी आनंद सिंह नेगी होशियार सिंह पुंडीर बुद्धि सिंह नेगी शास्त्री सुन्दरलाल ममगाईं मनीष डंगवाल आचार्य दिवाकर भटृ आचार्य संदीप बहुगुणा आचार्य प्रदीप अंकित ममगाईं सुरेंद्र तिवारी सुरेश जोशी आदि भत्तQ गण भारी सँख्या में उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here