सपने में ईशनिंदा को लेकर मदरसे के शिक्षकों ने महिला सहयोगी की हत्या की

0
571

खैबर पख्तूनख्वा । पाकिस्तान में सपने में ईशनिंदा को लेकर मदरसे के शिक्षकों ने अपने ही महिला सहयोगी की बेरहमी से हत्या कर दी। रिपोर्ट के मुताबिक, एक आरोपी ने अपने सपने में देखा कि पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा शहर में ‘ईशनिंदा करने’ के लिए एक मदरसा शिक्षक की उसकी महिला सहयोगियों ने बेरहमी से हत्या कर दी है। जिला पुलिस अधिकारी (डीपीओ) नजमुल हसनैन के अनुसार, हत्या जामिया इस्लामिया फलाहुल बिनात के बाहर सुबह हुई।
एफआईआर के अनुसार, जब पुलिस घटनास्थल पर पहुंची तो उन्होंने देखा कि महिला खून से लथपथ पड़ी है और उसकी गर्दन कटी हुई है। प्राथमिकी में बताया गया है कि पीड़ित पर धारदार वस्तुओं से हमला किया गया था। डीपीओ हसनैन के मुताबिक, क्रमशः 17, 21 और 24 वर्ष की आयु के आरोपियों ने ईशनिंदा के दावों पर 21 वर्षीय पीड़िता की हत्या की। अधिकारियों को हत्या में इस्तेमाल हथियार, साथ ही सपने के विवरण का दस्तावेजीकरण करने वाला एक रजिस्टर मिला है। मामला दर्ज कर लिया गया है, फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।
सभी आरोपी दक्षिण वजीरिस्तान जिले के रहने वाले हैं, लेकिन डीआई खान जिले के अर्जुमाबाद में रहते थे। मानवाधिकार संगठनों का दावा है कि व्यक्तिगत झगड़ों को सुलझाने या अल्पसंख्यकों को सताने के लिए मुसलमानों के खिलाफ पाकिस्तान में ईशनिंदा कानूनों का अक्सर इस्तेमाल किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here