राज्य में पूर्ण बहुमत वाली ही बनेगी सरकार

0
493


राज्य के लोगों ने किया पूर्ण बहुमत वाली सरकार के पक्ष में मतदान

देहरादून। भले ही एग्जिट पोल के नतीजे राज्य में किसी भी दल को पूर्ण बहुमत मिलने की हिमायत न कर रहे हो तथा अल्पमत की सरकार बनने का संकेत दे रहे हो, लेकिन इस बार के चुनावी नतीजे चौंकाने वाले हो सकते हैं। कुछ राजनीति के जानकार इस बात का भी दावा कर रहे हैं कि सरकार चाहे किसी की भी बने होगी पूर्ण बहुमत वाली ही सरकार।
खास बात यह है कि राज्य में सरकार पूर्ण बहुमत वाली बनने का दावा करने वाले इन लोगों में जहां कुछ कांग्रेस की सरकार बनने का दावा करते दिख रहे हैं वहीं कुछ लोग भाजपा की सरकार बनने की बात कह रहे हैं। लेकिन दोनों के ही दावोंं में जो एक बात समान दिखाई दे रही है वह है राज्य में पूर्ण बहुमत की सरकार बनने का दावा। अपने—अपने इन दावों के पीछे उनके ठोस तर्क भी हैं।
ट्टदून वैली मेल’ द्वारा किए गए अपने इस सर्वे में लोगों का कहना है कि उत्तराखंड की आम जनता पढ़ी लिखी है तथा वह एक बार अल्पमत और एक बार प्रचंड बहुमत वाली सरकार गठन का जनादेश देकर उनके परिणाम देख चुकी है। इसलिए वह कदाचित भी ऐसा जनादेश देने नहीं जा रही है जिसके कारण अन्य राज्यों की तरह यहां भी गठबंधन की सरकार बने और विधायकों की खरीद—फरोख्त के अवसर पैदा हो। वही लोगों का कहना है कि राज्य में अल्पमत की सरकार होने की स्थिति में राजनीतिक अस्थिरता और मध्यवती चुनाव का भी खतरा हमेशा बना रहता है। जिसके कारण राज्य का विकास प्रभावित होता है। इसलिए सरकार चाहे किसी भी दल की बने एक स्थिर सरकार जरूरी है तथा अल्पमत वाली सरकार से यह उम्मीद नहीं की जा सकती है। लोगों की सोच यह भी है कि गठबंधन सरकार में सत्ताधारी नेताओं पर निजी हित ज्यादा हावी रहते हैं तथा भ्रष्टाचार को भी बढ़ावा मिलता है उन्हें लगा रहता है कि पता नहीं कब सत्ता पलट जाए इसलिए जो करना है कर लो।
जहां तक इस सवाल की बात है कि सरकार कांग्रेस की बनेगी या भाजपा की? लोगों में भाजपा को लेकर इस बात की नाराजगी है कि एक प्रचंड बहुमत वाली सरकार होते हुए भी उसने 5 सालों में कुछ खास नहीं किया, अपने निर्णय पलटने व मुख्यमंत्री बदले जाने को लोगों ने सरकार की बड़ी कमजोरी के रूप में देखा है। वही मोदी और केंद्र सरकार की योजनाओं पर भाजपा की सराहना भी की है। चुनाव में महिला मतदाताओं की निर्णायक भूमिका और आम आदमी पार्टी की उपस्थिति ने इस बार के चुनाव को परिणामों के लिहाज से अप्रत्याशित बना सकता है। अहम बात यह है कि सरकार कांग्रेस की बने या भाजपा की लेकिन राज्य में त्रिशंकु सरकार लोगों की कल्पना में नहीं है और उन्होंने पूर्ण बहुमत वाली सरकार के पक्ष में ही मतदान किया है। कल क्या होता है यह अलग बात है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here