सेना के जवान की पीट-पीटकर हत्या

0
301

चेन्नई। तमिलनाडु के कृष्णागिरी में पानी की टंकी के पास कपड़े धोने को लेकर शुरू हुए विवाद के बाद भारतीय सेना के एक 33 वर्षीय सैनिक को द्रविड़ मुन्नेत्र कषगम (डीएमके) पार्षद और उसके सहयोगियों ने पीट-पीट कर मार डाला। 8 फरवरी को, 29 वर्षीय लांस नायक एम. प्रभु और डीएमके सदस्य चिन्नासामी के बीच पोचमपल्ली के वेलमपट्टी में नगर पंचायत की पानी की टंकी के पास कपड़े धोने को लेकर गहमा-गहमी हो गई थी। इसके बाद पार्षद चिन्नासामी ने 9 लोगों के साथ रात को वहां पहुंचा और प्रभु व उनके भाई प्रभाकरन पर हमला कर दिया। इस दौरान पार्षद ने अपने लोगों के साथ मिलकर सेना के जवान और उनके भाई की जमकर पिटाई कर दी। इसके बाद गंभीर रूप से घायल प्रभु को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी मौत हो गई। प्रभु को होसुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। प्रभु के भाई प्रभाकरन की शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इस मामले में चिन्नासामी के बेटे राजापंडी समेत 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने मामले को हत्या के मामले में तब्दील कर चिन्नासामी और उसके साथियों को गिरफ्तार किया है। वे हमले के दिन से ही पुलिस की गिरफ्त से फरार चल रहे थे। पुलिस के मुताबिक प्रभु पर चिन्नास्वामी ने घात लगाकर हमला बोला था. लेफ्टिनेंट कर्नल एन. त्यागराजन ने ट्वीट कर कहा कि पोचमपल्ली इलाके में डीएमके पार्षद चिन्नास्वामी ने सेना के जवान प्रभु की बुरी तरह पिटाई की, जिसके बाद उनकी मौत हो गई। इस मामले में तमिलनाडु के सीएम एम के स्टालिन को उचित कार्रवाई करनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here