डीएम जी कृष्णैया के परिवार ने किया आनंद मोहन की रिहाई का विरोध

0
292


नई दिल्ली। बिहार के बाहुबली नेता आनंद मोहन की सहरसा जेल से रिहाई का गोपालगंज के तत्कालीन डीएम जी कृष्णैया के परिवार ने विरोध किया है।जी कृष्णैया की पत्नी उमा देवी ने कहा कि मैं राष्ट्रपति और पीएम मोदी से इस मामले में हस्तक्षेप करने और सीएम नीतीश कुमार से उन्हें (आनंद मोहन) वापस जेल भेजने की अपील करती हूं। कृष्णैया की बेटी पद्मा ने कहा है कि आनंद मोहन सिंह का आज जेल से छूटना हमारे लिए बहुत दुख की बात है। बिहार सरकार को इस फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए। मैं नीतीश कुमार जी से अनुरोध करता हूं कि इस फैसले पर दोबारा विचार करें। इस फैसले से उनकी सरकार ने एक गलत मिसाल कायम की है। यह सिर्फ एक परिवार के लिए नहीं बल्कि पूरे देश के लिए अन्याय है। हम इस फैसले के खिलाफ कोर्ट में अपील करेंगे। वहीं, आंध्र प्रदेश के आईएएस एसोसिएशन ने जी कृष्णैया की हत्या के दोषियों की रिहाई पर आपत्ति जताई है और बिहार सरकार से अपने फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की है।
बता दें कि पूर्व सांसद आनंद मोहन को बृहस्पतिवार सुबह सहरसा जेल से रिहा कर दिया गया। आनंद मोहन की रिहाई ‘जेल सजा क्षमादान आदेश’ के तहत हुई है। हाल में बिहार सरकार ने जेल नियमावली में बदलाव किया था, जिससे मोहन समेत 27 अभियुक्तों की समयपूर्व रिहाई का मार्ग प्रशस्त हुआ। गोपालगंज के तत्कालीन जिलाधिकारी जी कृष्णैया की हत्या के मामले में मोहन उम्रकैद की सजा काट रहे थे। 1994 में मुजफ्फरपुर में एक गैंगस्टर की शवयात्रा के दौरान आईएएस अधिकारी कृष्णैया की हत्या कर दी गई थी। वह कृष्णैया हत्याकांड में दोषी पाए जाने के बाद पिछले 15 वर्षों से सलाखों के पीछे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here