दिल्ली—देहरादून हाईवे बंद

0
125

  • बड़े वाहनों की आवाजाही पर रोक
  • नदी के कटान से 20 मीटर सड़क बही
  • मोहंड चेकपोस्ट पर वाहनों की लगी कतार
  • यात्रियों को हो रही है भारी परेशानी

देहरादून। बीती रात हुई बारिश के बाद नदी में आए ऊफान और तेज बहाव के कारण डाट काली मंदिर से आगे दिल्ली—देहरादून हाईवे का बड़ा हिस्सा बह जाने से मार्ग बाधित हो गया है। हाईवे का आधे से अधिक हिस्सा ढह जाने के कारण बड़े वाहनों की आवाजाही पूरी तरह रोक दी गई है जिससे लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।
देहरादून—दिल्ली की सबसे प्रमुख सड़क के क्षतिग्रस्त होने से लोगों को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। देहरादून से दिल्ली जाने वाले वाहनों को अब हरिद्वार से होकर जाना पड़ रहा है वही दिल्ली की ओर से आने वाले वाहनों को आशा रोड़ी चेक पोस्ट पर रोका गया है। जिससे यहां वाहनों की लंबी कतारे लग गई है। भगवानपुर से कुछ वाहनों को रुड़की हरिद्वार की तरफ से डायवर्ट किया जा रहा है। दिल्ली देहरादून हाईवे सबसे व्यस्ततम मार्गों में से एक है जिस पर ट्रैफिक का भारी दबाव रहता है। इस मार्ग पर बड़े वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से रोके जाने पर लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। खासकर दिल्ली सहारनपुर और रुड़की की तरफ से आने वाले रास्ते में वाहन फंसे हुए हैं और उनकी स्थिति यह है कि वह न आगे जा सकते हैं और न ही पीछे।
दून के प्रशासनिक और पीडब्ल्यूडी के अधिकारी भी मौके पर पहुंच चुके हैं लेकिन सड़क का एक बड़ा हिस्सा जो नदी में बह चुका है उसके मरम्मत का काम भी आसान नहीं है। हालांकि प्रशासन की टीम द्वारा सड़क की मरम्मत का काम शुरू कर दिया गया है लेकिन अभी यह कहना मुश्किल है कि सड़क की मरम्मत में कितना समय लगेगा और कब तक स्थिति सामान्य हो सकेगी। अभी हालांकि सड़क के एक साइड से दो पहिया और कारो आदि को निकाला जा रहा है लेकिन खतरा गंभीर बना हुआ है क्योंकि सड़क की मिटृी बह जाने से सड़क खोखली हो गई है तथा आम दिनों में सूखी पड़ी रहने वाली नदी अभी तेज प्रवाह के साथ बह रही है। इसके साथ ही मौसम विभाग द्वारा देहरादून में आने वाले तीन दिनों में मूसलाधार बारिश की संभावना भी जताई गई है अगर बारिश ज्यादा होती है और बारिश के कारण मार्ग की मरम्मत का काम प्रभावित होता है तो ऐसी स्थिति में इस समस्या से निजात मिलने में कई दिन का समय भी लग सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here