गन्ना मूल्य व बकाया भुगतान पर कांग्रेस का विधानसभा पर प्रदर्शन

0
218

पेराई सीजन समाप्ति पर, समर्थन मूल्य घोषित नहीं
2017—18 तक भुगतान बकाया, किसान परेशान

गैरसैंण। गन्ना किसानों की समस्याओं को लेकर कांग्रेस विधायकों ने आज विधानसभा भवन पर गन्नाें के साथ सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया और सरकार पर गन्ना किसानों की अनदेखी का आरोप लगाया।
विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने से पूर्व आज सभी कांग्रेसी विधायक हाथों में गन्ना और मांगों लिखी तख्तियां हाथों में लेकर विधानसभा भवन पहुंचे। और सरकार पर गन्ना किसानों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए विधानसभा के बाहर जोरदार नारेबाजी की। कांग्रेस विधायकों का कहना है कि सरकार द्वारा न तो गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाया गया है और न ही गन्ना किसानों का बकाया भुगतान किया गया है। इस अवसर पर कांग्रेस विधायक ममता राकेश ने कहा कि 2017 और 2018 तक गन्ना किसानों का भुगतान अभी तक नहीं किया जा सका है। ऐसी स्थिति में गन्ना किसान अपना घर परिवार कैसे चलाएं यह सोचनीय सवाल है। उनका कहना था कि अभी तक सरकार द्वारा गन्ने का समर्थन मूल्य तक घोषित नहीं किया गया है। उधर हरिद्वार ग्रामीण से विधायक अनुपमा रावत ने कहा कि एक तरफ सरकार द्वारा किसानों की आय दोगुनी करने की बात कही जाती है तो वहीं सरकार की हालत यह है कि पेराई सत्र समाप्त होने को है लेकिन सरकार अभी तक गन्ने का समर्थन मूल्य तक घोषित नहीं कर सकी है। कांग्रेसी विधायकों का कहना है कि राज्य के तराई वाले जिलों में जहां किसानों की आय का प्रमुख स्रोत गन्ना है, के किसान सरकार की नीतियों से भारी नाराज हैं क्योंकि उन्हें उनकी फसल का न तो उचित मूल्य मिल पा रहा है और न ही समय पर उनकी फसल का भुगतान हो रहा है।
उधर गन्ना मंत्री सौरभ बहुगुणा का कहना है कि कांग्रेसी विधायकों को सही जानकारियां नहीं है उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों की तुलना में पुष्कर धामी के नेतृत्व वाली सरकार के कार्यकाल में गन्ना किसानों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है तथा सबसे अधिक गन्ना भुगतान किया गया है। उनका कहना है कि सरकार की कोशिश है कि किसानों का बकाया जल्द से जल्द भुगतान किया जाए। उन्होंने कहा कि समर्थन मूल्य के मूल्यांकन का काम किया जा रहा है और जल्द ही समर्थन मूल्य घोषित कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here