चौकीदार की हत्या का खुलासा, तीन गिरफ्तार

0
142
chowkidar ki hatya ka khulasa

राईस मिल में लूट के इरादे से की गयी थी हत्या

हरिद्वार/देहरादून। बंद पड़ी राईस मिल के चौकीदार की हत्या किये जाने के मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या लूट के इरादे से की गयी थी। जिसमें मिल का पूर्व चौकीदार सहित तीन लोग शामिल थे। पुलिस ने लूटा गया माल व हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिये है।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेन्द्र सिंह रावत ने बताया कि 18 सितम्बर को लक्सर कोतवाली पुलिस को सूचना मिली कि ग्राम अकबरपुर ऊद, लक्सर हरिद्वार मे बन्द पडी राईस मिल के चौकीदार पालेराम पुत्र मांगेराम (70) निवासी जिला शामली उ.प्र. की अज्ञात व्यक्तियो द्वारा हत्या कर दी गयी है। सूचना पर कोतवाली लक्सर पुलिस व उच्चाधिकारियों द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण किया गया तो राईस मिल के अन्दर चौकीदार पालेराम का शव चारपाई पर कम्बल मे लिपटा मिला। जिसके सिर पर गहरे चोट के निशान थे। इस पर पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। विवेचना के दौरान मिल मालिक ने बताया कि उसकी मिल से 2 बैटरियां, 1 गैस चूल्हा, 1 गैस सिलेंडर, 2 तूफान पंखे, 1छत का पंखा, व मृतक चौकीदार पालेराम का मोबाईल व एक बाइक इत्यादि सामान भी गायब है। मामले के खुलासे में जुटी पुलिस टीम को आज सुबह सूचना मिली कि उक्त हत्या में शामिल तीन लोग क्षेत्र में देखे गये है। सूचना पर कार्यवाही करते हुए पुलिस ने बताये गये स्थान बेगमपुल के समीप से अकबरपुर ऊद निवासी मिथुन, मुकेश उर्फ मोटा व अंकुश दबोच लिया। पूछताछ में उन्होने 16 सितम्बर की रात लूट के इरादे से राईस मिल के चौकीदार की हत्या करना कबूल किया। हत्यारोपी मिथुन द्वारा बताया कि वह पहले राईस मिल मे चौकीदारी का काम करता था परन्तु उसे हटा दिया गया था। जिसका उसके अन्दर काफी गुस्सा था। बताया कि तीन माह पूर्व ही उसकी शादी हुई थी तथा वह बेरोजगार भी था, जिस कारण उसने अपने साथियों सन्दीप उर्फ मोटा एवं अंकुश के साथ मिलकर राईस मिल में हत्या कर लूट की योजना बनाई। योजना के तहत 16 सितम्बर को तीनों साथियों ने पहले गावं के बाहर दारु पी उसके बाद रात्रि 8.30 बजे के लगभग राईस मिल में आकर चौकीदार पालेराम से मिल गेट का ताला खुलवाया। पुरानी जान पहचान होने के कारण चौकीदार पालेराम के साथ पहले तीनों ने खाना खाया और कुछ समय बाद जब पालेराम सो गया तो तीनों ने योजना के तहत पालेराम के सिर पर बैलन, पाठल व हैण्ड पम्प के हत्थे से ताबडतोड वार कर दिये जिससे चौकीदार पालेराम की मौके पर ही मृत्यु हो गयी। बताया कि इसके बाद उन्होनेे वहां पर रखे सामान मोटरसाईकिल, बैटरियां, पंखे, गैस सिलेण्डर इत्यादि वहां से हटाकर पास बने खण्डरों एवं गन्ने के खेतों में छिपा दिया जिससे बाद में मौका मिलने पर सामान को ठिकाने लगाया जा सके। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर लूटा गया माल व हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद कर लिये है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here