चारधाम यात्रा ने तोड़े सभी रिकॉर्ड

0
445

अब तक 10 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किए दर्शन
मौसम और अव्यवस्थाओं पर भारी पड़ी श्रद्धा

देहरादून। चारधाम यात्रा को शुरू हुए अभी महज 22 दिन का समय ही हुआ है लेकिन चार धाम यात्रा में इस बार उमड़ रही श्रद्धालुओं की भीड़ ने सारे पिछले रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए हैं। जितने श्रद्धालु पूरे यात्रा सीजन में चार धाम यात्रा के लिए आते थे उससे अधिक यात्री पहले ही महीने में चार धाम यात्रा कर चुके हैं होंगे। अब यह आंकड़ा 10 लाख के पार पहुंच गया है जो अब तक रिकॉर्ड है।
दो साल कोरोना के कारण बाधित रही चारधाम यात्रा के शुरू होने से पहले ही यह कयास लगाए जा रहे थे कि इस बार की चारधाम यात्रा ऐतिहासिक होने वाली है। लेकिन यह यात्रा इतनी ऐतिहासिक भी हो सकती है इसका अंदाजा शासन—प्रशासन को भी नहीं था। यही कारण था कि प्रारंभिक दौर में सरकार द्वारा एक दिन में चार धाम जाने वाले यात्रियों की कोई संख्या तो तय ही नहीं गई थी बल्कि बिना किसी रोक—टोक यात्रा संचालित करने की घोषणा की गई थी। देखा यह गया कि हर एक धाम में क्षमता से दो गुना ज्यादा श्रद्धालु पहुंचने शुरू हो गए। ऐसी स्थिति में सरकार द्वारा की गई व्यवस्थाओं का कम पड़ना लाजमी ही था। वहीं दूसरी ओर प्री मानसूनी बारिश के कारण धामों में वर्षा व बर्फबारी ने भी मुश्किलें खड़ी कर दी। लेकिन मौसम की मार भी श्रद्धालुओं की आस्था पर कोई असर नहीं डाल सके। सबसे अधिक श्रद्धालु केदारधाम जाते हैं जिस दिन कपाट खुले थे 6 मई को मुख्यमंत्री धामी भी धाम में मौजूद थे और उन्होंने श्रद्धालुओं की भीड़ तथा धाम के प्रबंधन पर कहा था कि कपाट खुलने के समय हमेशा ही अधिक भीड़ रहती है लेकिन 15 दिन बाद भी केदारधाम सहित सभी धामों में जिस तरह से आस्था का सैलाब उमड़ता देखा जा रहा है वह इस बात को साबित करता है कि इसमें बहुत जल्दी कमी आने वाली नहीं है। बात अगर केदारधाम की की जाए तो धाम में 10—12 हजार यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था है लेकिन हर रोज यहां 18 से 20 हजार यात्री धाम पहुंच रहे हैं यह हाल तब है जब सरकार द्वारा बिना रजिस्ट्रेशन आने वालों को वापस लौटाया जा रहा है अकेले केदारधाम में अब तक 3 लाख 60 हजार से अधिक श्रद्धालु पहुंच चुके हैं वहीं बद्रीनाथ धाम पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की संख्या भी 3 लाख 25 हजार से ऊपर पहुंच गई है। गंगोत्री और यमुनोत्री जहां सीमित संख्या में ही श्रद्धालु पहुंचते थे वहां भी अब तक गंगोत्री धाम में 2 लाख 10 हजार और यमुनोत्री धाम में करीब 1 लाख 50 हजार के करीब श्रद्धालु पहुंच चुके हैं। सभी धामों में अब तक 10 लाख से अधिक श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं जो एक नया रिकॉर्ड है जबकि यात्रा अभी 5 माह से भी अधिक चलेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here