अवैध धार्मिक स्थलों पर फिर की बुलडोजर कार्यवाही शुरू

0
401

दो मजार व एक मंदिर हटाया

  • सीएम की सख्ती के बाद हुई कार्यवाही
  • – आगे भी जारी रहेगी कारवाही

देहरादून। लंबे समय की खामोशी के बाद उत्तराखंड में एक बार फिर अवैध धार्मिक संरचनाओं के ध्वस्तिकरण की कार्यवाही शुरू हो गई है। हरिद्वार जिला प्रशासन ने आज एक स्कूल प्रांगण में बनी मजार और एक छोटा मंदिर सहित तीन धार्मिक स्थलों पर बुलडोजर की कार्रवाई की है। इस दौरान पुलिस अधिकारियों के अलावा भारी पुलिस भी मौजूद रही।
जानकारी के अनुसार आज सुबह हरिद्वार जिला प्रशासन व पुलिस की टीम बुलडोजर लेकर जमालपुर कला क्षेत्र में पहुंची। जहां सरकारी प्राइमरी स्कूल के प्रांगण में बनी एक मजार को बुलडोजर के जरिए ध्वस्त कर दिया गया। प्रशासन की इस कार्यवाही का कुछ स्थानीय लोगों द्वारा विरोध किया गया लेकिन भारी पुलिस फोर्स के चलते विरोध के स्वर धीमी पड़ गए और प्रशासन ने मजार को तोड़कर उसका मलवा भी हाथों—हाथ साफ करा दिया। इसके अतिरिक्त दूसरी कार्यवाही कनखल क्षेत्र के जगजीतपुर में की गई जहां एक मजार पर पुलिस ने बुलडोजर चलवा दिया। बताया गया है कि हरिद्वार में आज सड़क किनारे बने एक छोटे मंदिर को भी पुलिस द्वारा हटाया गया है।
उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा चार माह पूर्व राज्य में जनसांख्यिकीय असंतुलन बढ़ने का हवाला देकर धार्मिक संरचनाओं की आड़ में सरकारी और वन भूमि पर व्यापक स्तर पर अवैध कब्जे की बात कही गई थी जिसके बाद वन विभाग और राज्य पुलिस द्वारा अवैध अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई शुरू की गई थी जिसके तहत अब तक डेढ़ सौ के करीब अवैध अतिक्रमणों को हटाकर 300 एकड़ के करीब जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराया जा चुका है। लेकिन मानसूनी आपदा और चारधाम यात्रा प्रबंधन में उलझे शासन प्रशासन द्वारा बीते एक डेढ़ माह से इस कार्रवाई को रोक दिया गया था। जिसे अब दोबारा शुरू किया गया है। जानकारी यह भी मिली है कि मुख्यमंत्री ने इस बाबत अधिकारियों को फटकार भी लगाई तथा फिर से कार्यवाही शुरू करने के निर्देश दिए हैं। जिसके बाद अब प्रशासन नींद से जागा है सीएम पहले ही कह चुके हैं कि अंतिम अतिक्रमण हटाने तक यह कार्रवाई जारी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here