सुरक्षा कारणों से जम्मू-कश्मीर में रोकी गई भारत जोड़ो यात्रा

0
178


जम्मू । कांग्रेस नेता राहुल गांधी के नेतृत्व में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ निकाली जा रही है। इस बीच शुक्रवार को सुबह जम्मू-कश्मीर के बनिहाल से यात्रा आगे घाटी की ओर बढ़ी थी। इस बीच सुरक्षाकर्मियों ने पैदल यात्रा पर रोक लगा दी और सुरक्षा चिंता का हवाला दिया गया, जिसके बाद अनंतनाग के वेसु तक वाहनों के जरिए भेजा गया है। राहुल गांधी और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व नेशनल कांफ्रेंसके उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला साथ में दिखाई दिए। दोनों नेता अनंतनाग तक वाहनों से गए हैं। भारत जोड़ो यात्रा गुरुवार को गणतंत्र दिवस के मद्देनजर एक दिन के विश्राम के बाद शुक्रवार को सुबह बनिहाल से फिर से शुरू हुई थी।
इधर, उमर अब्दुल्ला बनिहाल में ही भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए। राहुल की तरह सफेद टी-शर्ट पहने उमर ने कांग्रेस पार्टी के हजारों समर्थकों के साथ राहुल के साथ पदयात्रा में हिस्सा लिया। श्रीनगर से 120 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बनिहाल पहुंचने के बाद उमर ने कहा, ‘भारत जोड़ो यात्रा का मकसद राहुल गांधी की छवि सुधारना नहीं, बल्कि देश के मौजूदा हालातों में बदलाव लाना है।’
उन्होंने कहा कि वह यात्रा में इसलिए शामिल हो रहे हैं, क्योंकि वह देश की छवि को लेकर ज्यादा चिंतित हैं। उन्होंने कहा, ‘हम किसी एक व्यक्ति की छवि के लिए नहीं, बल्कि देश की छवि के लिए इसमें हिस्सा ले रहे हैं।
सात सितंबर 2022 को तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई भारत जोड़ो यात्रा पंजाब के रास्ते जम्मू-कश्मीर में दाखिल हुई थी। यह यात्रा 30 जनवरी को समाप्त होगी, जब राहुल श्रीनगर में कांग्रेस मुख्यालय में तिरंगा फहराएंगे और शेर-ए-कश्मीर क्रिकेट स्टेडियम में एक जन सभा को संबोधित करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here