विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रूपये ठगने वाला गिरफ्तार

0
263

देहरादून। विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों रूपये की ठगी करने वाले को एसटीएफ ने गिरफ्तार कर उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा उसको न्यायालय में पेश किया जहां से उसको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।
आज यहां इसकी जानकारी देते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने बताया कि आज मोनू सागर पुत्र सुरेश निवासी खंडुवा, मुरादाबाद को कबूतरबाजी के आरोप में एस.टी.एफ. द्वारा गिरफ्तार किया गया। एसटीएफ को कुछ युवकों ने प्रार्थना पत्र देते हुए बताया कि मोनू सागर नाम के एक लडके ने उन्हे मीडिल ईस्ट के बहरीन व माल्टा देश में होटल में काम करने का लालच देकर बताया कि वहॅा पर काफी अच्छी सैलरी है और वह उनकी नौकरी भी लगा सकता है। जिसके लिये उसके द्वारा उन्हे बहरीन व माल्टा का वीजा और टिकट देने का भरोसा दिलाया और जिसके लिये धनराशि खर्च होना बताया। इस पर मोनू सागर को 10 स्थानीय युवक युवतियों द्वारा अलग—अलग समय पर उसको यू.पी.आई. के माध्यम से 9,24,500 रूपये दे दिये गये। जिसकी एवज में इन युवक—युवतियों को मोनू सागर द्वारा फर्जी वीजा और ईमीग्रेशन एपाईन्टमेन्ट का लेटर व टिकट दे दिये गये जिसे लेकर सुनील राणा व बिमला सलदाना अर्न्तराष्ट्रीय एयरपोर्ट, दिल्ली पर पहूॅचे तो ईमीग्रेशन डिपार्टमेन्ट ने टिकट व बीजा को फर्जी बताया तो उन्हें अपने साथ धोखे का एहसास हुआ। मोनू सागर के व्हाट्सअप नम्बर पर पीडितो द्वारा बार—बार मोबाईल पर सम्पर्क करने पर फोन नही मिल रहा था।
उक्त प्रकरण की जॉच निरीक्षक प्रदीप कुमार राणा के सुपुर्द की गई। पीडितोंं द्वारा लगाये गये आरोपो की जॉच में पुष्टि होने के पश्चात् यशपाल बिष्ट की ओर से थाना डालनवाला में मुकदमा दर्ज कराया गया एवं एस.टी.एफ. टीम द्वारा मोनू सागर के सम्बन्ध मे पतारसी सुरागरसी की गई तो आरोपी के पंजाब में रहने की जानकारी प्राप्त हुई, जिस पर एस.टी.एफ. की एक टीम मोहाली, पंजाब भेजी गई। उक्त आरोपी की गिरफ्तारी हेतु पुलिस उपाधीक्षक विवेक कुमार के दिशा—निर्देशन में टीम द्वारा आरोपी मोनू सागर पुत्र सुरेश निवासी खंडुवा, मुरादाबाद को तलाश करके मोहाली पंजाब से एस.टी.एफ. कार्यालय देहरादून पूछताछ हेतु लाया गया। जॉच अधिकारी द्वारा मोनू सागर से पूछताछ की गई जहॅा उसने पूछताछ में बताया कि उसने अपने ही टिकट और वीजा को डब्लूपीएस मोबाईल एप्प की सहायता से एडिट करके पीडितो को व्हाट्सअप के माध्यम से उपलब्ध कराये गये और उनसे विदेश जाने के नाम पर ली गई धनराशि लगभग 9,00,000 रूपये आनॅलाईन जुआ में हार गया है। एसटीएफ ने उसको न्यायालय में पेश किया जहां से उसको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here