एक्शन मोड में दिखी विधानसभा अध्यक्ष

0
601

कोटद्वार के विकास पर अधिकारियों को दिये निर्देश

देहरादून। विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण ने कोटद्वार के विकास के लिए अधिकारियों के साथ बैठक कर उनको जरूरी दिशा निर्देश दिये।
आज यहां कोटद्वार से विधायक एवं विधानसभा अध्यक्ष बनने के बाद ऋतु खंडूडी भूषण अपने क्षेत्र के विकास के लिए एक्शन मूड में दिख रही है, इसी कड़ी में विधानसभा भवन देहरादून में आयोजित समीक्षा बैठक के दौरान शहरी विकास, आवास विकास, ऊर्जा विभाग, पेयजल विभाग एवं परिवहन विभाग के सचिव स्तर से लेकर विभागीय अधिकारी मौजूद थे। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र में पूर्ण हो चुके विकास कार्य, संचालित योजनाओ और भविष्य में होने वाले विकास कार्यों को लेकर अधिकारियों के साथ विस्तार से चर्चा की। उन्होंने निर्देश दिए कि सभी विभाग आपसी सामंजस्य से कार्य करें और क्षेत्र की समस्याओं का निस्तारण शीघ्र किया जाए। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने शहरी विकास विभाग के अधिकारियों से कोटद्वार में कूड़ा निस्तारण के लिए ट्रेचिंग ग्राउंड बनाए जाने के लिए त्वरित कार्रवाई करने की बात कही। उन्होंने कहा कि कोटद्वार में ट्रेचिंग ग्राउंड ना होने से वहां रोजाना निकलने वाले कूड़े कचरे का निस्तारण एक बड़ी समस्या है। वहीं उन्होंने अधिकारियों से कोटद्वार में सीवर की समस्या को दूर करने के लिए स्थान चिन्हित कर सीवर ट्रीटमेंट प्लांट बनाए जाने की बात कही। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने शहरी विकास विभाग से कोटद्वार क्षेत्र में पानी की समस्या को दूर करने के लिए (अटल मिशन आफ रेजूवेनेशन एंड अर्बन ट्रांसफॉरमेशन) अमृत 2.0 योजना की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी ली। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने आवास विकास विभाग से पार्किंग व्यवस्था के लिए पार्किंग निर्माण के संबंध में आवश्यक जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कोटद्वार में दिन—प्रतदिन सड़कों पर यातायात का दबाव लगातार बढ़ता जा रहा है जिससे हमेशा जाम की स्थिति उत्पन्न हो रही है, पार्किंग व्यवस्था को सुदृढ़ रखने के लिए पार्किंग निर्माण कार्य के लिए कार्यवाही त्वरित की जाए। विधानसभा अध्यक्ष ने पेयजल विभाग के अधिकारियों से कोटद्वार में स्वीकृत एवं प्रस्तावित पेयजल योजनाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि गर्मी बढ़ने से क्षेत्र में पेयजल की समस्या बढ़ने लगी है जिसके लिए पेयजल की आपूर्ति सुचारु रुप से होना आवश्यक है। विधानसभा अध्यक्ष ने क्षेत्र में 50 किलोमीटर क्षतिग्रस्त पाइप लाइनों को दुरस्त करने के लिए शासन के अधिकारियों से धनराशि स्वीकृत करने की बात कहीघ उन्होंने कहा कि पेयजल समस्याओं का समय से निराकरण न होने से स्थानीय लोगों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। विधानसभा अध्यक्ष ने कोटद्वार में बस अड्डे के निर्माण के लिए परिवहन विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा की। इस अवसर पर शहरी विकास के अपर मुख्य सचिव आनंदवर्धन, उरेडा कि निदेशक रंजना राजगुरु, शहरी विकास विभाग के अपर सचिव विनोद कुमार सुमन, शहरी विकास के निदेशक ललित मोहन रयाल, अपर परियोजना निदेशक विनय मिश्रा, जल जीवन मिशन के निदेशक नितिन भदौरिया, मुख्य अभियंता एससी पंत, पेयजल निगम के महाप्रबंधक सुजीत कुमार, जल संस्थान के महाप्रबंधक एसके शर्मा, उत्तराखंड जल विघुत निगम के निदेशक पुरुषोत्तम सिंह, ऊर्जा के संयुत्तQ सचिव विक्रम सिंह राणा, जल संस्थान के अधीक्षण अभियंता प्रवीण सैनी सहित अन्य अधिकारी मोजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here