अयोध्या दीपोत्सव में 17 लाख दीपक जलाए जाएंगे

0
92


लखनऊ । अयोध्या में दीपोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस बार एक नया रिकॉर्ड बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस बार करीब 17 लाख दीपक जलाए जाएंगे। जिन दियों को राम की पैड़ी पर जलाया जाएगा उनमें से करीब 11 लाख दीपक राम की पैड़ी पर पहुंच चुके हैं। इस बार 18 से 19 हजार वालंटियर लगाए जाएंगे, जो इन दीपकों को जलाने का काम करेंगे। इस बार घाटों की संख्या भी बढ़ाई गई है और दीपक की संख्या भी बढ़ी है। अयोध्या में इस बार दीपोत्सव को लेकर आम लोगों में भी काफी उत्साह देखने को मिल रहा है और ये सुनिश्चित भी किया जा रहा है कि इसमें आम लोगों की भागीदारी भी हो। 21 अक्टूबर से दीपक बिछाने का काम शुरू किया जाएगा और अगले दिन 22 अक्टूबर तक सभी दीपकों को बिछा दिया जाएगा। 23 तारीख को दीपक में बाती लगाई जाएगी और तेल डाला जाएगा। 23 अक्टूबर को एक बार फिर नया विश्व रिकॉर्ड तैयार होगा, जिसके लिए वॉलिंटियर्स ने पूरी तैयारियां कर रखी है। अयोध्या में दीपवाली पर एक बार फिर से त्रेता युग दिखाई देगा। राम की पैड़ी के साथ-साथ अयोध्या के सभी पौराणिक कुंड मंदिर एक बार फिर दीपों से जगमग दिखाई देंगे। दीपावली पर अयोध्या एक बार फिर से दुल्हन की तरह सज संवर कर तैयार होगी, जिसको देखने के लिए दूर-दूर से राम भक्त इस दीप उत्सव में भाग लेंगे। दीप उत्सव को भव्य बनाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अभी हाल ही में अयोध्या के सभी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक बैठक की और बैठक में सभी अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि इस बार के दीप उत्सव में भव्य झांकियां निकाली जाए और भव्य दीपोत्सव मनाया जाए जिससे अयोध्या में एक बार फिर से त्रेता युग दिखाई देगा। दीप उत्सव नोडल अधिकारी अजय प्रताप सिंह ने बताया कि दीप उत्सव को लेकर हमारी सारी तैयारियां करीब-करीब दो-तीन दिन के अंदर पूरी हो जाएगी। हमारे 18-19 हजार वालंटियर्स तैयार हो चुके हैं। 11 लाख दीपक आ चुके हैं। इस बार 17 लाख दीपक जलाए जाएंगे। इस काम में सभी लोग जुटे हुए हैं। इस बार ज्यादा से ज्यादा आम लोगों को भागीदारी को सुनिश्चित करने कोशिश की जा रही है ताकि उन्हें ये महसूस हो कि ये उनका अपना कार्यक्रम है। अयोध्या में इस बार फिर से दीप उत्सव में नया रिकॉर्ड बनेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here