दो नाबालिग दलित सगी बहनों की रेप के बाद हत्या

0
150

पुलिस ने 6 आरोपियों को किया गिरफ्तार
सियासी हलकों में भूंचाल, प्रशासन पर सवाल

लखीमपुर खीरी। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी ज़िले में एक दलित परिवार की दो सगी नाबालिग बहनों के शव पेड़ से लटके मिलने से सनसनी फैल गई। पुलिस ने इस मामले में छह अभियुक्तों को गिरफ़्तार करने का दावा किया है और कहा है कि लड़कियों को जबरन ले जाने या अपहरण के आरोप ग़लत हैं। गुस्साए ग्रामीणों ने अभियुक्तों की गिरफ़्तारी की मांग को लेकर सड़क पर कई घंटों तक जाम लगाए रखा।
लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, अभियुक्त दोनों सगी बहनों को जबरन नहीं ले गए। मुख्य अभियुक्त लड़का इन लड़कियों के घर के पास रहता था। लड़कियों को बरगलाकर खेत में ले जाया गया। मुख्य अभियुक्त ने ही दूसरे तीन लड़कों से ही इन दो लड़कियों की दोस्ती कराई थी। इन चार के अलावा दो अन्य को साक्ष्य मिटाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि पीड़ित परिवार ने तहरीर बुधवार रात एक बजे दी है, पोस्टमार्टम कुछ देर में होगा। इसके लिए तीन डॉक्टर्स का पैनल है। इसकी वीडियोग्राफी भी की जाएगी।
बुधवार की शाम को हुई यह घटना निघासन थाना क्षेत्र की है। लड़कियों की उम्र 15 साल और 17 साल बताई जा रही है। स्थानीय ग्रामीणों और मृतक लड़कियों के परिवारवालों का आरोप है कि तीन लोगों ने लड़कियों के साथ पहले बलात्कार किया और बाद में उनकी हत्या कर शव पेड़ से लटका दिए।
इस घटना के बाद इलाक़े में गुस्से और तनाव का माहौल है। उत्तेजित ग्रामीणों ने गांव से कुछ दूर निघासन चौराहे पर प्रदर्शन भी किया। प्रदर्शनकारी अभियुक्तों की गिरफ़्तारी की मांग कर रहे थे। निघासन चौराहे पर प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी। उत्तर प्रदेश के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) प्रशांत कुमार ने कहा कि घटना के दोषियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Two minor Dalit real sisters murdered after rape

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here