छावला कांड में न्याय की उम्मीद जागी

0
67

एलजी ने दी रिव्यू पिटीशन की मंजूरी

नई दिल्ली/देहरादून। छावला हत्या व रेप कांड में एक बार फिर पहाड़ वासियों को इंसाफ मिलने की उम्मीद जाग उठी है। दिल्ली के उपराज्यपाल द्वारा छावला कांड में रिव्यू पिटीशन दायर करने की अनुमति दिए जाने से पीड़ित परिवार को भी ऐसा लग रहा है कि 12 साल लंबी जिस न्याय की लड़ाई को वह जीतते—जीतते हार गए थे शायद अब जीत जाएंगे और उनकी बेटी को इंसाफ मिल सकेगा।
उल्लेखनीय है कि 19 फरवरी 2012 को पहाड़ की बेटी को कार से अगवा कर उसके साथ 3 दिनों तक दरिंदगी करने के बाद लगभग मृत अवस्था में उसको फेंक दिया गया था। इस जघन्य अपराध की शिकार बनी 22 वर्षीय युवती की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके शरीर पर अनेक चोट के निशान पाए गए थे तथा दरिंदगी की पुष्टि हुई थी। सामूहिक रेप और हत्या के इस मामले में सेशन कोर्ट और हाईकोर्ट से सभी 3 आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई गई थी लेकिन हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ आरोपी सुप्रीम कोर्ट गए जहां से उन्हें संदेह का लाभ देते हुए सभी 3 आरोपियों को दोषमुक्त घोषित करते हुए रिहा कर दिया गया था।
सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से न सिर्फ मृतका के माता पिता को गहरा झटका लगा था बल्कि पहाड़ के लोगों को भी झकझोर कर रख दिया था। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ दिल्ली से लेकर देहरादून तक आम आदमी का आक्रोश सड़कों पर दिखाई दिया था। उत्तराखंड सरकार और सूबे के नेताओं के लिए भी यह फैसला गले नहीं उतरा। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अभी पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया था वही राज्यसभा सांसद व भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी पीड़ित परिवार को लेकर दिल्ली के एलजी से मिले थे और दिल्ली पुलिस द्वारा सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की कमजोर पैरवी का हवाला देकर इस केस में रिव्यू पिटीशन दायर करने की अनुमति देने की मांग की गई थी। जिस पर संज्ञान लेते हुए दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना द्वारा आज रिव्यू पिटीशन दायर करने की अनुमति दे दी गई है तथा इस मामले की पैरवी करने के लिए सोलर सीटर जनरल तुषार मेहता व एडिशनल सोलर सीटर ऐश्वर्या भाटी को पैरवी के लिए नियुक्त किया गया है। दिल्ली पुलिस अब इस मामले में आज या कल रिव्यू पिटीशन दायर कर सकती है।


धामी ने एलजी का आभार जताया

देहरादून। दिल्ली के एलजी वीके सक्सेना द्वारा छावला कांड में रिव्यू पिटीशन दायर करने की अनुमति दिए जाने के लिए सीएम धामी ने उनका आभार जताया गया है। धामी का कहना है कि उनके प्रयास से पीड़ित परिवार को न्याय मिलने का रास्ता साफ हो गया है। उनके फैसले से पहाड़ के लोग खुश हैं।


त्रिवेंद्र ने की बलूनी की सराहना

देहरादून। छावला कांड में रिव्यू पिटीशन दायर करने की उपराज्यपाल वीके सक्सेना द्वारा अनुमति मिलने का श्रेय अनिल बलूनी को देते हुए पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उनके प्रयासों की सराहना की है। उनका कहना है कि पहाड़ कि बेटी को न्याय दिलाने में बलूनी के प्रयास सराहनीय हैं उनके प्रयासों से ही न्याय की उम्मीद जागी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here