बिजली कटौती पर अधिकारियों को फटकार

0
277

24 घंटे में समस्या का समाधान निकालेंः धामी
4 से 6 घंटे तक की हो रही कटौती से लोग परेशान

देहरादून। अनियमित बिजली कटौती की मार झेल रहे राज्य के लोगों को राहत दिलाने के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में ऊर्जा विभाग के अधिकारियों की बैठक बुलाकर हालात की समीक्षा की। अधिकारियों के जवाब से असंतुष्ट मुख्यमंत्री धामी ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि उन्हें स्थिति की पूरी जानकारी ही नहीं है तो समाधान क्या करेंगे। उन्होंने कहा कि 24 घंटे के भीतर समस्या का समाधान पेश करें।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने समीक्षा बैठक में राज्य के निजी स्रोतों से उपलब्ध बिजली की मात्रा और मांग के बारे में विस्तार से जानकारी मांगी गई व पूछा गया कि कितनी बिजली खरीदी जा रही है और बिजली खरीद के लिए वित्तीय व्यवस्था की क्या स्थिति है? मुख्यमंत्री के इन सवालों का अधिकारी उन्हें ठीक से जवाब नहीं दे सके। जिस पर मुख्यमंत्री ने सख्त नाराजगी जताते हुए कहा कि आप कर क्या रहे हैं? जब आपको यही नहीं पता है कि कितनी बिजली खरीद जरूरी है जिसमें कटौती न करनी पड़े। सीएम ने अधिकारियों से कहा कि अगर हम बिजली की खरीद करने के बाद भी बिजली में कटौती कर रहे हैं तो इसका मतलब क्या है?
उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह पूरी जानकारी और समाधान के साथ बैठक में आएं। इस अवसर पर मुख्य सचिव एसएस संधू ने भी ऊर्जा विभाग के इंजीनियरों को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर कहीं कोई समस्या है तो बताया जाए अथवा हालात को जल्द सामान्य बनाने के प्रयास किए जाएं। उल्लेखनीय है कि राज्य के ग्रामीण इलाकों में 3 से 4 तथा शहरी क्षेत्रों मेे 1 से 2 घंटे की बिजली कटौती की जा रही है जिसे लेकर मुख्यमंत्री की कार्यश्ौली पर सवाल उठाए जा रहे हैं। क्योंंकि ऊर्जा विभाग का काम खुद मुख्यमंत्री ही देख रहे हैं। अभी 2 दिन पूर्व उनके द्वारा कहा गया था कि बिजली को लेकर किसी को कोई परेशानी नहीं होने दी जाएगी। लेकिन अघोषित बिजली की कटौती लगातार जारी है।
एक तरफ गर्मी के कारण बिजली की मांग भी बीते सालों के मुकाबले बढ़ी हुई है राज्य को 44 मिलियन यूनिट बिजली की दरकार है जिसके सापेक्ष राज्य सरकार के पास सिर्फ 24 मिलियन यूनिट बिजली उपलब्ध है वह भी तब जब हर रोज 10.11 मिलियन यूनिट बिजली बाहर से खरीदी जा रही है। इस खरीद के बाद भी मांग पूरी नहीं हो पा रही और कटौती की जा रही है।

बिजली कटौती सरकार की विफलताः आर्य

देहरादून बिजली कटौती को लेकर प्रदेश भर में हाहाकार मचा हुआ है। सरकार 10 करोड़ कि हर रोज बिजली खरीद रही है फिर भी प्रदेश में 4 से 6 घंटे तक की बिजली कटौती की जा रही है। लोग परेशान हैं, उघोग धंधे चौपट हो रहे हैं और कई उघोग राज्य से बोरिया बिस्तर समेटने जा रहे हैं। यही नहीं सरकार ने बिजली की दरें तो बढ़ा दी फिर भी लोगों को बिजली नहीं मिल पा रही है। बिजली दरों का प्रभाव आम आदमी की जेब पर पड़ा है यह कैसा ऊर्जा प्रदेश है? यह बात आज नेता विपक्ष यशपाल आर्य ने बिजली कटौती पर सरकार की घेराबंदी करते हुए कही उन्होंने कहा कि यह सरकार का फेलियोर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here