पीएम ने दिखाई वंदे भारत ट्रेन को हरी झंडी

0
298

अध्यात्म चेतना का केंद्र बनेगा उत्तराखंडः मोदी

राज्य के पर्यटन को मिलेगी नई दिशाः धामी
स्कूली बच्चों ने भी लिया लग्जरी सफर का आनंद

देहरादून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज वंदे भारत ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया इसके साथ ही आज उत्तराखंड के इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ गया। उत्तराखंड से चलने वाली यह पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन है। इस मौके पर रेल मंत्री अश्वनी पांडे और सीएम धामी देहरादून में मौजूद रहे वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली से डिजिटली जुड़कर अपनी मौजूदगी दर्ज कराई।
इस अवसर पर अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उत्तराखंड में विकास की अपरमित संभावनाएं निहित हैं। उन्होंने कहा कि केदार बाबा के दर्शन के बाद उनके मुंह से अनायास ही निकला था कि यह दशक उत्तराखंड का दशक रहेगा। लेकिन अब यह यर्थाथ रूप लेकर सामने आ रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड देश ही नहीं पूरे विश्व में आध्यात्मिक चेतना का केंद्र बनकर उभर रहा है। प्रदेश की बेहतर कानून व्यवस्था और विकास कार्य जिस तेजी से आगे बढ़ रहे हैं उससे पर्यटन का विकास हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के 10 रत्नों के नाम लेकर उन तमाम विकास योजनाओं का जिक्र भी किया जो राज्य के विकास का कारण बन रही हैं। इन योजनाओं में केदारनाथ व बद्रीनाथ में किए जाने वाले विकास कार्यों से लेकर उत्तराखंड मानस माला और कर्णप्रयाग—ऋषिकेश रेलवे लाइन से लेकर केदारनाथ व हेमकुंड साहिब में प्रस्तावित रोपवे तक के कामों को उन्होंने गिनाया।
उधर इस अवसर पर मुख्यमंत्री धामी ने राज्य को इस वर्ल्ड क्लास ट्रेन देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री ने राज्य के विकास के लिए ऐसे अनेक काम किए हैं। उन्होंने कहा कि इस ट्रेन के चलने से राज्य के पर्यटन को नई दिशा मिलेगी तथा अब बाहर से आने वालों को एक सुविधाजनक सफर सुलभ हो सकेगा। प्रधानमंत्री ने आज सुबह 11 बजे इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर दिल्ली के लिए रवाना किया गया इस अवसर पर धामी सरकार के कई मंत्री विधायकों के अलावा राज्यपाल गुरमीत सिंह और रेलवे के तमाम अधिकारी मौजूद थे।


देहरादून से दिल्ली के लिए रवाना होने वाली इस वंदे भारत ट्रेन के पहले सफर में कई स्कूलों के बच्चों को भी सफर करने का मौका दिया गया था जिससे बच्चों का उत्साह और खुशी देखते ही बन रही थी। इस ट्रेन का 28 मई से नियमित संचालन होगा तथा इसका किराया भी पूर्व में चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस के लगभग बराबर ही है जबकि इसमें सुविधाएं हवाई सफर वाली है। यह ट्रेन सप्ताह में बुधवार को छोड़कर शेष 6 दिन चलेगी तथा दून से दिल्ली डे टु डे इस ट्रेन से सफर किया जाना संभव हो सकेगा तथा समय भी कम लगेगा। कनेक्टिविटी के लिहाज से यह एक बड़ी उपलब्धि के तौर पर देखा जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here