मणिपुर हिंसा के बीच 2 दिन में 700 से ज्यादा अवैध रिफ्यूजी म्यांमार से घुसे

0
339


नई दिल्ली। पूर्वोत्तर के मणिपुर राज्य में हालात अभी तक पूरी तरह सुधरे नहीं हैं। कुकी और मैतई समुदाय के बीच पिछले दो महीने से जारी जातीय हिंसा पूरे राज्य में फैल चुकी है और हाल ही में महिलाओं के साथ हुए दुष्कर्म के वायरल वीडियो ने स्थिति और भी ज्यादा बिगाड़ दी है। मणिपुर में आंतरिक हालात अभी सुधरे नहीं हैं, इस बीच विदेशी धरती से घुसपैठ की खबरों ने चिंताएं और भी ज्यादा बढ़ा दी हैं।
पिछले दो दिनों में म्यामांर बॉर्डर से 700 से अधिक लोगों को घुसपैठ की बात सामने आई है। मणिपुर के चंदेल जिले में अवैध रूप से म्यांमार में घुसपैठ हुई है, जिसके बाद राज्य सरकार ने चिंता व्यक्त की है। राज्य सरकार ने इस बारे में असम राइफल्स से डिटेल रिपोर्ट मांगी है और इतनी बड़ी संख्या में लोगों के आने की जानकारी मांगी है।
मणिपुर सरकार ने पूछा है कि 22 और 23 जुलाई के बीच किस तरह 719 म्यांमार नागरिकों को भारत में प्रवेश दिया गया। पूछा गया है कि जरूरी कागजों के बिना कैसे इन लोगों को भारत में एंट्री दी गई है। मणिपुर सरकार ने जो बयान जारी किया है, उसके मुताबिक 718 लोग इस दौरान घुसे हैं इनमें 209 पुरुष, 208 महिलाएं और 301 बच्चे शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here