मारा गया लश्कर-ए-तैयबा सरगना उजैर खान

0
346


श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में चल रहे एनकाउंटर में लश्कर-ए-तैयबा का सरगना उजैर खान कोकेरनाग में मारा गया है। एडीजीपी विजय कुमार ने कहा कि आतंकी सरगना उजैर की मौत हो चुकी है और उसकी बॉडी भी मिल गई है। एक और टेररिस्ट की डेड बॉडी दिख रही है। टेररिस्ट का हथियार भी मिला है, सर्च ऑपरेशन अभी जारी है। अनंतनाग में आतंकवाद विरोधी ऑपरेशन के बारे में कश्मीर पुलिस के एडीजीपी विजय कुमार ने कहा कि ‘तलाशी अभियान अभी जारी रहेगा क्योंकि कई इलाके अभी भी बचे हुए हैं। हम जनता से अपील करेंगे कि वे वहां न जाएं।’ एडीजीपी विजय कुमार ने कहा कि ‘हमारे पास 2-3 आतंकवादियों के बारे में जानकारी थी। संभव है कि हमें तीसरा शव कहीं मिल जाए। इसलिए हम तलाशी अभियान पूरा करेंगे। हमने लश्कर कमांडर का शव ढूंढ लिया और उसे हासिल कर लिया गया है। हम एक और शव भी देख सकते हैं। हम तीसरे शव की तलाश कर रहे हैं।’ विजय कुमार ने कहा कि हम आतंकियों की और भी जगहें ढूंढेंगे और उसे नष्ट कर देंगे। उजैर खान की मौत के साथ ही सात दिनों तक चली मुठभेड़ खत्म हो गई है। उजैर अहमद खान (28साल) अनंतनाग के नागम कोकरनाग का रहने वाला था। बताया जा रहा है कि वह 26 जुलाई 2022 से लापता था। खुफिया एजेंसियों का मानना है कि उजैर के साथ दो विदेशी आतंकवादी भी मुठभेड़ के वक्त मौजूद थे। सेना ने मुठभेड़ की जगह से एक जले हुए शव के डीएनए नमूने एकत्र किए हैं। सेना का मानना है कि यह किसी सैन्यकर्मी का हो सकता है, जिसकी पहचान प्रदीप के रूप में हुई है। इससे सुरक्षाबलों के हताहतों की संख्या चार हो गई है। इस मुठभेड़ में भारतीय सेना के 2 अधिकारी, एक जवान और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक अधिकारी शहीद हो गए। सेना ने अनंतनाग मुठभेड़ के ऑपरेशन को 7वें दिन खत्म किया। एक सैनिक का शव सोमवार शाम को बरामद किया गया था। हालांकि माना जा रहा है कि दो-तीन आतंकवादी अभी भी इलाके में फंसे हो सकते हैं। उनको पकड़ने के लिए तलाशी अभियान जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here