अंतर्राज्यीय हथियार तस्कर गिरफ्तार

0
127

पिस्टल, मैगजीन, रिवाल्वर, तमंचे व कारतूस बरामद

देहरादून। अवैध हथियार तस्करी कारोबार का भंडाफोड़ करते हुए एसटीएफ द्वारा कार्यवाही कर मुठभेड़ के बाद एक हथियार तस्कर को अवैध हथियारों के जखीरे के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी अंतर्राज्यीय हथियार तस्कर है जिस पर अन्य राज्यों में हथियार तस्करी से सम्बन्धित कई मुकदमें दर्ज है।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने बताया कि एसटीएफ व थाना पुलभटृा पुलिस द्वारा एक ज्वांइट ऑप्रेशन करते हुए कल देर रात थाना पुलभटृा क्षेत्र से एक बड़े अवैध हथियारों के तस्कर इस्त्याक उर्फ सोनू निवासी बरेली को गिरफ्तार किया गया है। जिसके कब्जे से 6 अवैध कन्ट्री मेड हथियार (दो पिस्टल, चार मैगजीन, एक रिवाल्वर, तीन तमंचे, कारतूस) व तस्करी में प्रयुक्त बाइक बरामद की गयी हैं। बताया कि गिरफ्तार तस्कर इस्त्याक उर्फ सोनू के बारे में उत्तराखण्ड एसटीएफ को कल रात्रि गोपनीय इनपुट मिला था कि वह हथियारों की बड़ी खेप लेकर उत्तराखण्ड की सीमा पर आ रहा है। जिस पर एसटीएफ द्वारा स्थानीय पुलभटृा पुलिस से सम्पर्क कर उन्हें साथ लेकर बरा क्षेत्र में उसकी घेराबन्दी की गयी। बताया कि जैसे ही टीम के द्वारा उसको पकड़ने का प्रयास किया गया तो उसके द्वारा पुलिस टीम के ऊपर फायरिंग शुरु कर दी टीम के द्वारा आत्मरक्षार्थ जवाबी फायरिंग करते हुए बदमाश को मौके पर ही धर—दबोचा गया। गिरफ्तार अपराधी ने पूछताछ में बताया कि वह वर्ष 2008 से हथियारों की तस्करी कर रहा है। वह उ.प्र. के एटा, कानपुर, म.प्र. के मुरेना, राजस्थान के अल्वर से हथियार मंगा कर उ.प्र., उत्तराखण्ड, हरियाणा और पंजाब आदि राज्यों में सप्लाई करता आ रहा है, इसी के चलते उसके खिलाफ कई राज्यों में आर्म एक्ट के मुकदमें दर्ज हैं, बताया कि इसके द्वारा अब तक करीब 400 पिस्टल/रिवाल्वर की तस्करी उ.प्र. व उससे लगे राज्यों में की जा चुकी है। गिरफ्तार आरोपी ने बताया कि उन्होनें हथियारों की सप्लाई के लिए कोडवर्ड भी बना रखे ताकि किसी को शक न हो इसके लिए वह पिस्टल को (गाड़ी) व कारतूसों को कैप्सूल कहते हैं, पिस्टल उन्हें करीब 30हजार में मिलती है जिसे आगे 40हजार में पार्टी को बेच देते हैं। इस प्रकार एक पिस्टल में उन्हें 10हजार का मुनाफा हो जाता है।
एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा बताया गया कि पकड़ा गया आरोपी इश्त्याक उर्फ सोनू पड़ोसी राज्य उ.प्र. का रहने वाला है व अवैध हथियारों का बड़ा सौदागर है जो कि उ.प्र. व उससे लगे राज्यों में अवैध हथियारों का बड़ा नेटवर्क चला रहा था। बताया कि हमारी टीम पिछले कई महीनों से हथियारों के इस नेटवर्क पर काम कर रही थी कल रात्रि टीम को एक सॉलिड टिप मिली थी कि इश्त्याक का मूवमेंट उत्तराखण्ड की तरफ हो रहा है इसपर टीम को अलर्ट कर लोकल पुलिस की मदद से इसकी गिरफ्तारी की गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here