पहाड़ पर जमकर बरसे होली के रंग

0
187

लोकगीतों और लोक नृत्य की धूम
सीएम आवास पर खूब उड़ा गुलाल

देहरादून। इन दिनों देवभूमि में चारों ओर होली की धूम है। महिला पुरुष बच्चे बूढ़े और जवान सभी होली के रंगों से सराबोर है। जगह—जगह होली मिलन कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है जिनमें लोकगीतों पर लोक नृत्य करते लोग मौज मस्ती के रंगों में डूबे हुए हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेशवासियों को होली की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मैं भगवान से प्रार्थना करता हूं कि सभी के जीवन में होली का रंग खुशियां लेकर आए और प्रदेश उन्नति के मार्ग पर अग्रसर रहें।
आज भी देहरादून में सीएम आवास पर होली मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें राज्य सरकार के सभी मंत्री और तमाम बड़े अधिकारियों के अलावा पार्टी पदाधिकारियों की भारी भीड़ रही। राज्य के कोने—कोने से आए लोक कलाकारों द्वारा इस अवसर पर लोकगीत और लोकनृत्य कर समा बांध दिया गया।
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी इस कार्यक्रम में अपने पूरे परिवार के साथ उपस्थित रहे और लोगों को बधाइयां देते दिखे। मुख्यमंत्री की पत्नी गीता धामी व मां भी इस अवसर पर मौजूद थी। कार्यक्रम में लोगों के खानपान की व्यवस्था भी की गई थी। शासन—प्रशासन के तमाम आला अधिकारी भी मुख्यमंत्री को होली की शुभकामनाएं देने उनके आवास पर पहुंचे थे। उल्लेखनीय है कि बीते कल भी महिलाओं ने सीएम आवास पर होली मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया था तथा कल भी रंग पर्व पर भव्य आयोजन रखा गया था। पुष्कर सिंह धामी का सीएम आवास पर यह दूसरे वर्ष मनाए जाने वाला होली मिलन समारोह है।
उधर उत्तरकाशी के विश्वनाथ मंदिर में आज भव्य होली मिलन कार्यक्रम आयोजित किया गया परंपरानुसार विश्वनाथ मंदिर में खेली जाने वाली भस्म आरती से ही होली की शुरुआत होती है। बाबा विश्वनाथ की भस्म आरती के बाद लोगों ने भस्म से होली की शुरुआत की इस समय गंगोत्री विधायक सुरेश चौहान भी इस होली मिलन कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि बाबा विश्वनाथ से उन्होंने सभी की सुख समृद्धि के लिए प्रार्थना की है।
देवभूमि की सांस्कृतिक राजधानी कहे जाने वाले अल्मोड़ा में भी चारों तरफ होली के कार्यक्रमों के आयोजनों की धूम दिखी। जिनमें महिलाएं पारंपरिक परिधान पहनकर नृत्य कर होली मनाती है। बागेश्वर से प्राप्त समाचार के अनुसार यहां बाबा बागेश्वर मंदिर से पूजा अर्चना के बाद होली की शुरुआत हुई। बागेश्वर देश में अकेला एकमात्र ऐसा स्थान है जहां लोग भगवान को आशीर्वाद देते हैं परंपरा के अनुसार तमाम गांव के लोग बागेश्वर धाम में आते हैं और यहीं से होली की शुरुआत करते हैं राज्य में तमाम हिस्सों से होली धूमधाम से मनाए जाने की खबरें हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here