खाद्य सुरक्षा विभाग की कार्यवाही: मसूरी जाने वाले दुग्ध व दुग्ध पदार्थो की सैंपलिंग की

0
584

देहरादून। खाद्य पदार्थो में क्वालिटी चैकिंग हेतू आज खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा मसूरी जाने वाले दूध एवं दुग्ध पदार्थो की सैंपलिंग की कार्रवाई गयी है।
जिला खाद्य सुरक्षा अधिकारी देहरादून पीसी जोशी द्वारा बताया है कि जिला मजिस्ट्रेट देहरादून के निर्देश पर आज प्रातः चार बजे एफडीए की टीम मसूरी जाने वाले दुग्ध वाहनों की क्वालिटी चेकिंग हेतु मसूरी डायवर्जन पर स्थित बैरियर में पहुंची और वाहनों को रोककर दूध—पनीर के 5 संदिग्ध सैंपल क्वालिटी जांच हेतु लिए गये। जिसे गवर्नमेंट लैब में जांच हेतु भेज दिया गया। उन्होने बताया कि रिपोर्ट प्राप्त होने के उपरांत खाघ सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 के तहत विधिक कार्रवाई की जाएगी।
बताया कि अधिकारियों को शिकायत प्राप्त हुई थी कि प्राइवेट वाहन में मिलावटी दूध—पनीर मसूरी जा रहा है। जिसकी आपूर्ति सहारनपुर, मुजफ्फरनगर क्षेत्र से प्राइवेट वाहनों में हो रही है। टीम को देखकर एक नैनो कार मसूरी डायवर्जन से वापस देहरादून की ओर मुड़कर भागने लगी लेकिन अधिकारियों ने उसका पीछा कर सहस्त्रधारा रोड पर रोक कर उसकी चेकिंग की गई तो उसमें पनीर रखा हुआ था। जिसका नमूना क्वालिटी जांच हेतु लैब भेज दिया गया है।
देहरादून में दूध का उत्पादन कम होने के कारण बाहर के राज्यों से दूध पनीर की आपूर्ति होती है और मसूरी में पर्यटक सीजन के कारण दूध की डिमांड बढ़ जाती है और यह भी शिकायतें हैं कि होटल रेस्टोरेंट संचालक भी सस्ते रेट के ही पनीर की डिमांड करते हैं और उसे ग्राहकों को अधिक दाम पर परोसा जाता है। खाद्य सुरक्षा विभाग द्वारा ऐसे होटल—रेस्टोरेंटों की भी निगरानी की जा रही है। विगत सप्ताह में 20 से अधिक व्यापारियों के विरुद्ध खाघ सुरक्षा मानक अधिनियम 2006 के तहत मुकदमे दर्ज करा दिया गये है टीम में जिला खाघ सुरक्षा अधिकारी पीसी जोशी, वरिष्ठ खाघ सुरक्षा अधिकारी रमेश सिंह, संजय तिवारी, वरिष्ठ खाघ सुरक्षा अधिकारी मंजू रावत आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here