कांग्रेस करेगी रैट होल माइनर्स को सम्मानितः हरीश

0
147
  • सरकार सिलक्यारा से मजदूरों को बाहर निकालने को भी मना रही है ईवेंट की तरहः माहरा

देहरादून। उत्तराखण्ड कांग्रेस सिलक्यारा टनल से मजदूरों को बाहर निकालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले रैट होल माइनर्स तथा बचाव में लगे सभी तकनीकी कर्मियों को सम्मानित करेगी। जबकि कांग्रेस विधायक उन्हे एक माह के वेतन प्रदान करेगे।
यह बात आज कांग्रेस भवन में आयोजित संयुक्त पत्रकार वार्ता के दौरान पूर्व सीएम हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल द्वारा कही गयी। उन्होने कहा कि आज सरकार सिलक्यारा टनल में फंसे मजदूरों को 17 दिनों बाद बाहर निकालने का खुद श्रेय ले रही है। जबकि आगर मशीनों के खराब हो जाने के बाद सुरंग में उतरे रैट होल माइनर्स की मजदूरों को बाहर निकालने में अहम भूमिका रही है। पूर्व सीएम हरीश रावत ने कहा कि कांग्रेस रैट होल माइनर्स को विशेष तौर पर इस कार्य के लिए बधाई देती है। उन्होने कहा कि सिलक्यारा की घटना क्यों हुई यह एक जांच का विषय है। उन्होने सवाल उठाते हुए कहा कि क्या इसकी कार्यदायी कम्पनी इसकी लगातार मानिटरिंग कर रही थी या नही? उन्होने कहा कि सरकार को इस हादसे के बाद 14 दिनों तक सफलता नहीं मिली जबकि रैट माइनर्स द्वारा कुछ ही दिनों में इस साहासिक कार्य को पूरा कर मजदूरों को बाहर निकाल लिया गया।
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि सरकार सिलक्यारा से मजदूरों को बाहर निकालने को भी ईवेंट की तरह मना रही है। जबकि सरकार को इस टनल हादसे से सबक लेना चाहिए और निर्माण में लगी कम्पनियों को इसकी सुरक्षा के कड़े निर्देश देने चाहिए। उन्होनेे कहा कि कांग्रेस के सभी विधायक इस अभियान में लगे रैट होल माइनर्स सहित सभी तकनीकी कर्मियों को सम्मानित करेगी साथ ही उन्हे एक माह का वेतन प्रदान करेगें। उन्होने कहा सिलक्यारा हादसे से यह भी पता चल गया कि सरकार और आपदा प्रबन्धन के पांच प्लान, भारी मशीनरी और करोड़ों रूपये से जो काम नहीं हो पाया उस मिशन में अंतिम सफलता रैट होल माइनर्स अन्य तमाम श्रमिक तथा तकनीकि कर्मियों के कारण मिली है। वहीं पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गादियाल ने कहा है कि सीएम टनल से मजदूरों को बाहर निकालने का भी खुद श्रेय ले रहे है। जबकि इस अभियान में सभी रेस्क्यू टीमों की सहभागिता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here