बार डांसर की हत्या में लेफ्टिनेंट कर्नल गिरफ्तार

0
1038

  • पत्नी का दर्जा दिये जाने का दबाव को लेकर की गयी हथौड़े से हत्या

देहरादून। पत्नी का दर्जा दिये जाने का दबाव बना रही बार डांसर महिला मित्र को लेफ्टिनेट कर्नल ने हथोडे से वार कर हत्या कर शव को जंगल में फेंक दिया था। 24 घंटे में हत्या का खुलासा कर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसको न्यायालय में पेश किया जहां से उसको न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।
आज यहां इसकी जानकारी देते हुए डीआईजी/एसएसपी दिलीप सिंह कुंवर ने बताया कि गत दिवस रायपर थाना पुलिस को सूचना मिली कि सिरवाल गढ़ में एक महिला का शव संदिग्ध अवस्था मे पडा हुआ है। सूचना पर थानाध्यक्ष रायपुर मौके पर पहुंचे और उन्होने घटनास्थल का निरीक्षण कर पाया कि महिला के माथे व सर पर गम्भीर चोटों के निशान है। जिस पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। सीसी कैमरे खंगालने पर पुलिस को पता चला कि रात्री 11 बजे से सुबह चार बजे तक महाराणा प्रताप चौक से थानो की ओर 240 वाहन गये है। जिस पर पुलिस द्वारा वाहन स्वामियों के नम्बर प्राप्त किये गये। उक्त पतों को तस्दीक करते हुए एक संदिग्धवाहन का स्वामी रामेन्दू उपाध्याय पुत्र वाल्मिकी उपाध्याय निवासी प्रेमनगर पंडितवाड़ी जनपद देहरादून होना पाया गया जिसकी जानकारी करने पर पता चला कि घटना के दौरान वाहन स्वामी का मोबाइल फोन स्विच आफ होना पाया गया तथा घटना के दौरान महाराणा प्रताप चौक से थानो चौक तक पहुंचने में लिये गये समय में लगभग 42 मिनट के अतिरिक्त समय का होना पाया गया। जिस पर पुलिस टीम द्वारा आज प्रातः वाहन स्वामी रामेन्दू उपाध्याय को उसके घर प्रेमनगर पण्डितवाडी के पास से हिरासत में ले कर पूछताछ की गयी तो रामेन्दू उपाध्याय द्वारा घटना को स्वीकार किया गया। जिससे बरामद मोबाइल फोन में मृतका के साथ रामेन्दू उपाध्याय की फोटो होना, मृतका के मोबाइल नम्बर से बात करना पाया गया। मृतिका की शिनाख्त श्रेया उर्फ सुमित्रा पुत्री शिव बहादुर चौक चिसापानी जिला तनहु नेपाल के रूप में हुई। रामेन्दू उपाध्याय ने बताया कि वह आर्मी में क्लेमेंटाउन में लेफ्टिनेंट कर्नल के पद पर तैनात है। उसकी पोस्टिंग कुछ समय पहले सिलिगुडी पश्चिम बंगाल से देहरादून में हुयी थी। वर्ष 2020 जनवरी में उसकी मुलाकात नेपाली मूल की लडकी श्रेया शर्मा से डांस बार सिटी सेंटर मॉल सिलीगुड़ी पंश्चिम बंगाल में हुई थी जिनमें उनके बीच आपसी रिलेशन बन गए। वह दोनों सिलीगुड़ी में पति—पत्नी की तरह रहते थे। जब उसकी पोस्टिंग देहरादून में हुई तो वह श्रेया को भी अपने साथ देहरादून ले आया। उसने क्लेमनटाउन में एक फ्लैट किराये पर लिया और उसे वहां रख दिया। कुछ दिन सही रहने के बाद वह लगातार उसको अपनी पत्नी का दर्जा देने का दबाब बनाने लगी। इसलिए उसने उसे जान से मारने की योजना बनायी। 9 सितम्बर को वह श्रेया को लेकर बीयर पीने के लिए राजपुर रोड स्थित एक क्लब गया। जहां पर वह शराब पीकर लांग ड्राइव पर थानो रोड चले गये। जहंा जगंल में कार लगाकर उसने योजना के अंतर्गत अपनी कार से हथौड़ा निकाला और श्रेया के सिर पर कई वार किये। जब वह मर गई उसने जहां जगह मिली मेन रोड किनारे उसको फेंक दिया उसके बाद गाड़ी में रखा टॉयलेट क्लीनर निकाला और उसके मुंह पर डाल दिया। श्रेया के शव को ठिकाने लगाकर उसने हथोडा थानो रोड पर सडक किनारे फेंक दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here