फास्ट ट्रेक कोर्ट में होगी अंकिता केस की सुनवाई

0
146

आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूतः डीजीपी

आरोपियों पर लगाया जा सकता है गैंगस्टर एक्ट

देहरादून। अंकिता मर्डर केस में भले ही पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया हो और उनके रिजार्ट पर बुलडोजर चलवा दिया हो या फिर उसकी फैक्ट्री को आग लगा दी गयी हो लेकिन पहाड़ के लोगों में इस घटना को लेकर अभी आक्रोश अपने चरम पर है। डीजीपी अशोक कुमार का कहना है कि पुलिस के पास आरोपियों के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलवाई जाएगी। वही मुख्यमंत्री ने कहा है कि मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराई जाएगी और दोषियों को जल्द सजा दिलाई जाएगी। एसआईटी इस मामले की छानबीन में लगी है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने रिजार्ट की उस पूर्व कर्मचारी को भी तलाश लिया है। प्रियंका नाम की जिस युवती को लापता होने की बात कही जा रही थी पुलिस का कहना है कि प्रियंका जीवित है और उससे तथा अन्य कुछ पूर्व कर्मचारियों से इस बारे में बहुत सारी जानकारियां मिली हैं कि इस रिजार्ट में क्या होता था? पुलिस आरोपियों पर पहले ही 302, 120 बी और 201 जैसी गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर चुकी है और अब इन पर गैंगस्टर एक्ट लगाने की भी तैयारी चल रही है। अंकिता का शव बरामद होने के बाद ही यह साफ हो गया था कि यह एक संगठित तरीके से किया गया अपराध है। आरोपियों ने भी अपनी गिरफ्तारी के बाद अपना जुर्म कबूल कर लिया है।
इस मामले की जांच में जुटी एसआईटी की टीम अब इस घटना के साक्ष्य जुटाने में लगी हुई है। इस बीच आज सीएम पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि उत्तराखंड की बेटी के साथ घटी यह घटना बेहद दुखद है। आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दिलाई जाएगी तथा मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में कराई जाएगी जिससे पीड़ित परिवार को जल्द से जल्द न्याय मिल सके।


हरीश से पीड़ित परिवार की गुहार, अब आप ही हमें इंसाफ दिलाएं


देहरादून। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने आज अंकिता के गांव जाकर पीड़ित परिवार से मुलाकात की और ढांढस बंधाया है। इस अवसर पर अंकिता के पिता ने उन्हें बताया कि आरोपी का पिता जो भाजपा का नेता है अपने बेटे को बचाने के लिए पुलिस और अधिकारियों पर दबाव बना रहा है। उन्होने कहा कि मैं गरीब आदमी हूं मेरे किसी से कोई रसूख नहीं है मेरी बेटी को अब आप ही इंसाफ दिलाओ। परिवार ने अपनी सुरक्षा को लेकर भी खतरा जताया है तथा सरकार से मदद की गुहार लगाई है हरीश रावत ने उन्हें भरोसा दिया है कि वह मुख्यमंत्री से बात करेंगे। इस अवसर पर लोगों ने दोषियों को फांसी की सजा देने की भी मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here