सूदखोर के उत्पीड़न से परेशान होकर हलवाई ने की आत्महत्या

0
89


गाजियाबाद । लोनी के मशहूर हलवाई चंचल अग्रवाल गिरी ने सूदखोर के उत्पीड़न से परेशान होकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मरने से पहले हलवाई ने एक सुसाइड नोट में सूदखोरों पर उत्पीड़न का गंभीर आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री से न्याय की गुहार लगाई है। एसीपी (अंकुर विहार) विवेक सिंह ने शुक्रवार को बताया कि किलोनी के बलरामनगर निवासी 52 वर्षीय चंचल अग्रवाल की मार्केट में मिठाई की दुकान है। वह अपने और असपास के इलाके में मिठाई को लेकर बहुत मशहूर थे। शुक्रवार को चंचल अग्रवाल ने अपने घर के बरामदे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर तलाशी ली। घटनास्थल से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें उन्होंने बताया कि जीतू ऊर्फ जितेंद्र बंसल से 40 लाख रुपये सूद पर लिया था। उसकी एवज में अभी तक वह दो करोड़ रुपये का भुगतान कर चुके हैं। इस दौरान जीतू ने उनका मकान भी अपने नाम करा लिया और अब भी एक करोड़ रुपये की देनदारी और निकाल रहा था। साथ ही उसका लगातार उत्पीड़न और जान से मारने की धमकी दे रहा था। पीड़ित ने इस सुसाइड नोट में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से गुहार लगाई है कि जीतू के खिलाफ कार्रवाई कराई जाए। जीतू के उत्पीड़न से परेशान होकर आत्महत्या कर रहे हैं। एसीपी ने बताया कि सुसाइड नोट और परिवार की तहरीर के आधार पर सूदखोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की गहराई से जांच की जा रही है। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here