लव जिहाद के खिलाफ गंगोत्री धाम के बाजार भी रहे बंद

0
283

देहरादून। लव जिहाद के बढ़ते मामलों से अब पहाड़ी जनपद सुलगने लगे है। बीते कुछ समय से जहंा उत्तरकाशी, चमोली आदि अन्य जनपदों में लव जिहाद के खिलाफ आम जन व व्यापारियों द्वारा दुकाने बंद कर प्रदर्शन किया जा रहा है वही इस कड़ी में आज गंगोत्री धाम के बाजार भी बंद रहे। स्थानीय लोगों व पुजारियों तथा व्यापारियों का कहना है कि गंगोत्री धाम मेेंं भी बाहरी गैर समुदाय के लोग भारी संख्या में है जिनका वैरफिकेशन कराना जरूरी है।
बता दें कि उत्तराखण्ड में इन दिनों अचानक लव जेहाद के अनेक मामले सामने आये है। हालांकि इस पर सरकार की पैनी नजरें बनी हुई है और ऐसे अपराधियों को जेल भेजा जा रहा है। लेकिन राज्य के पहाड़ी जनपदों में आम जन इससे संतुष्ट नहीं है। लोगों का कहना है कि इन बाहरी लोगों का सत्यापन कराया जाये तथा जो लोग संदिग्ध पाये जाते है उन्हे राज्य से बाहर किया जाये। इस मांग को लेकर बीते कई दिनों तक उत्तरकाशी, चमोली के बाजार बंद रखे गये और लोगों ने मांग की है कि बाहरी गैर समुदाय के लोगों का सत्यापन कर उन्हे बाहर का रास्ता दिखाया जाये। हालांकि इस विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर कई गैर समुदाय के व्यापारी अब वहंा से दुकान खाली कर बाहर जा रहे है। लेकिन फिर भी लोगों का गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा है।
आज इस क्रम में उत्तराखण्ड के प्रसिद्ध चार धामों में से एक गंगोत्री धाम के बाजार भी यात्रा सीजन के दौरान व्यापारियों ने लव जिहाद के चलते बंद रखे। जिनका समर्थन रावल, तीर्थ पुरोहितों व स्थानीय लोगों द्वारा किया गया। रावल तीर्थ पुरोहित गंगोत्री धाम का कहना है कि यहंा भी भारी संख्या में गैर हिन्दु समुदाय के लोग व्यापार कर रहे है। जिनसे स्थानीय लोगों में भय व्याप्त है। उन्होने कहा कि सरकार को इन सभी का सत्यापन कराकर संदिग्ध लोगों को बाहर कर दिया जाना चाहिए। उन्होने कहा कि अगर सरकार इस मामले में उचित कार्यवाही नहीं करेगी तो हम अनिश्चित काल के लिए बाजार बंद रखेगें। वहीं यात्रा सीजन में दुकानें बंद होने से श्रद्धालुओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here