जिलाधिकारी ने ग्रामीणों के साथ जंगल में वर्षा जल संरक्षण के लिए खुदाई कर सैकड़ों खंतियां तैयार की

0
331

लोकेंद्र सिंह बिष्ट

उत्तरकाशी। जिलाधिकारी अभिषेक रूहेला के साथ खरवां गॉंव के ग्रामीणों ने जल संचय अभियान के तहत वर्षा जल संरक्षण के लिए सैकड़ों खंतियां तैयार कर मानसून के आगमन के साथ ही जल संरक्षण की मुहिम को और तेजी से संचालित करने का संकल्प व्यक्त किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने खरवां गॉंव का दौरा कर ग्रामीणों की समस्याएं सुनी और स्थानीय बच्चों से बातचीत कर उनकी शिक्षा-दीक्षा के बारे में जानकारी ली। जिलाधिकारी अभिषेक रूहेला ने रविवार को डुंडा ब्लॉक के खरवां गांव पहुँचकर ग्रामीणों को जल संचय अभियान को कामयाब बनाने के लिए प्रेरित किया। जिलाधिकारी के साथ बड़ी संख्या में ग्रामीणों ने निकटवर्ती जंगल में जाकर वर्षा जल संरक्षण के लिए खुदाई कर सैकड़ों खंतियां तैयार की। इस अभियान में ग्राम प्रधान श्रीमती जगदंबा देवी की अगुवाई में महिलाओं ने भी बढ़-चढ़ कर भाग लिया। जल संचय अभियान के अंतर्गत जिलाधिकारी महोदय के तत्वधान में ग्राम पंचायत खरवा मैं ग्रामीणों एवं कर्मचारी अधिकारियों के सहयोग से श्रमदान कर 96 खतियां खोदी गई, भारी बारिश के बावजूद भी ग्रामीण महिलाओं ने एवं अधिकारी कर्मचारियों द्वारा पर्यावरण संरक्षण एवं जल संवर्धन हेतु जिलाधिकारी महोदय द्वारा की गई पहल में प्रतिभाग किया गया. जन सूचना अभियान 5 जून 2023 प्रारंभ किया गया, जो कि 16 जुलाई 2023 तक निरंतर जारी रहेगा, अभियान में अब तक 20,000 से ऊपर खतियां छोटे छोटे तालाब जनपद की सभी ग्राम पंचायतों में खुदी जा चुकी है इस मौके पर जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में वर्षा जल संरक्षण के लिए प्रशासन के द्वारा जन सहभागिता से जल संचय अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान श्रमदान कर बारिश के पानी को रोकने के लिए बड़े पैमाने पर जल संरक्षण खंतियां बनाई जा रही हैं। अभियान का समापन आगामी 16 जुलाई को हरेला पर्व पर वृहद स्तर पर वृक्षारोपण के साथ होगा। इस मुहिम में जिले भर में एक लाख खंतियां तैयार किए जाने और एक लाख पौधों का रोपण किए जाने का प्रयास किया जा रहा है। ग्रामीणों द्वारा बड़े स्तर पर उत्साहजनक भागीदारी को देखते हुए निःसंदेह यह मुहिम सफल होगी। जिलाधिकारी ने इस दौरान खरवां गॉव जाकर ग्रामीणों की समस्याओं एवं गॉंव के विकास तथा रोजगार से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की और स्थलीय निरीक्षण भी किया। जिलाधिकारी ने कहा कि प्राकृतिक रूप से समृद्ध इस गांव के निवासियों को जिला मुख्यालय से निकट होने का लाभ उठाते हुए सब्जी उत्पादन, डेयरी व्यवसाय जैसे संभावनाशील क्षेत्रों में आगे बढकर काम करना चाहिए। प्रशासन इस काम में ग्रामीणों की पूरी सहायता करेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि खरवां गॉंव में चारा विकास की योजना संचालित करने के साथ ही फलदार पौधों का रोपण कराने का भी इंतजाम किया जाएगा। उन्होंने ग्रामीणों की समस्याओं के निस्तारण के लिए मौके पर ही संबंधित अधिकारियों के निर्देश देते हुए कहा कि गॉंव में पंचायत घर के निर्माण, सिंचाई व्यवस्था में सुधार तथा बिजली पानी से संबंधित समस्याओं का शीघ्र निस्तारण कराया जाएगा। ग्रामीणों द्वारा जिलाधिकारी से खरवां से भराण गॉंव तक सड़क बनाए जाने का आग्रह किया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि इस सड़क के लिए जिला योजना में विचार किया जाएगा। जिलाधिकारी ने ग्रामीणों को मतदाता सूची के पुनरीक्षण की जानकारी देते हुए नए मतदाताओं के नाम जोड़े जाने और दिवंगत लोगों के नाम हटाए जाने हेतु सूचना निर्धारित फार्म पर बीएलओ को उपलब्ध कराने की अपील की। इस मौके पर जिलाधिकारी ने गॉंव के बच्चों से भी अलग से बातचीत कर उनकी शिक्षा व्यवस्था, आंगनवाड़ी केन्द्र के संचालन, टीकाकरण आदि के बारे मालूमात की। जिलाधिकारी ने बच्चों को नियमित रूप से स्कूल जाने और मन लगाकर पढाई करने की अपील की। इस अवसर पर परियोजना निदेशक डीआरडीए रमेश चन्द्र, खण्ड विकास अधिकारी डुण्डा राकेश बिष्ट, युवा कल्याण अधिकारी विजय प्रताप भंडारी, रेंज अधिकारी वन विभाग प्रीतम सिंह चौहान, ग्राम प्रधान श्रीमती जगदम्बा देवी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here