धर्मानंद उनियाल राजकीय महाविद्यालय में मनाया गणतंत्र दिवस

0
32

नरेंद्रनगर। धर्मानंद उनियाल राजकीय महाविद्यालय में धूमधाम से 74वां गणतंत्र दिवस मनाया गया।
आज यहां धर्मानंद उनियाल राजकीय महाविद्यालय में 74 वां गणतंत्र दिवस धूमधाम के साथ मनाया गया। इस अवसर पर प्राचार्य प्रोफेसर राजेश कुमार उभान ने सभी छात्र छात्राओं और कॉलेज स्टाफ को बधाई देते हुए कहा कि संविधान भारतीय संस्कृति की मूल आत्मा को दर्शाता है। यह एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जो संस्कृतियों के वैश्विकरण के वर्तमान दौर में अपनी मौलिक पहचान को बनाये रखने में सक्षम है। शांति, एकता और भाईचारा भारतीय लोकतंत्र की विशेषता है। हम सबका प्रयास संविधान की मूल आत्मा को बनाए रखना है जिसमें सभी लोग बिना किसी भेदभाव के एक समान हैं। महाविद्यालय प्रांगण में ध्वजावन्दन के उपरांत डॉक्टर जगदीश प्रसाद, उच्च शिक्षा निदेशक उत्तराखण्ड के ऑडियो संदेश का प्रसारण किया गया जिसके बाद एक सूक्ष्म कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया जिसमें डॉ विजय प्रकाश भटृ ने संविधान के प्रस्तावना में वर्णित गणतांत्रिक मूल्यों पर वर्तमान समय में और भी ज्यादा गहराई से समझ विकसित करने की, अपने आचरण और व्यवहार में संवैधानिक मूल्यों को शामिल करने की बात की वहीं डॉ राजपाल सिंह रावत ने अपने संबोधन में छात्र छात्राओं को मनोयोग से अपने कार्यों और दायित्वों को पूरा करने का मूल मंत्रा दिया। वहीं गिरीश जोशी ने भी दी गणतंत्र दिवस के महत्व को रेखांकित किया। कार्यक्रम में महाविघालय की अंजलि, प्रीति और अर्जुन छात्र् छात्राओं द्वारा देश भक्ति गीतों की प्रस्तुति भी की गयी। कार्यक्रम की समाप्ति पर मिष्ठान वितरित किया गया। कार्यक्रम का संचालन डॉ जितेंद्र नौटियाल ने किया। इस अवसर पर सभी प्राध्यापक एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here