निवेशकों का महाकुंभः कल पीएम करेंगे उद्घाटन

0
3544

मुख्यमंत्री धामी ने अधिकारियों के साथ तैयारियां परखी

  • पुलिस प्रशासन ने किया फुल ड्रेस रिहर्सल
  • सुरक्षा व्यवस्था के चाक चौबंद इंतजाम
  • डेलिगेशन्स के पहुंचने का सिलसिला शुरू
  • सीएम आवास पर आज रात का डिनर

देहरादून। उत्तराखंड शासन—प्रशासन द्वारा कल और परसों होने वाले निवेशकों के महाकुंभ के आयोजन को भव्य और दिव्य बनाने के लिए सारी तैयारियां पूरी कर ली गई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों के साथ आज तैयारियों का जायजा लिया तथा उन्हें सतर्क किया कि इंतजाम में किसी भी तरह की कोई कमी नहीं रहनी चाहिए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल इस ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का उद्घाटन करने दून आ रहे हैं। इस आयोजन के समापन अवसर पर गृहमंत्री अमित शाह के आने का कार्यक्रम भी तय है व वीआईपी मूवमेंट के मद्देनजर इस आयोजन की तैयारियंा भी उतनी ही भव्य व दिव्य की गई है। देश—विदेश से 3 हजार के आसपास मेहमान इस आयोजन में आने वाले हैं। जिनके डेलीगेट्स का आना शुरू हो चुका है। किसी भी निवेशक और उघोगपति को किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो उसके लिए विशेष तौर पर उघोग मित्रों की नियुक्ति की गई है।
निवेशकों के इस महाकुंभ में गौतम अडानी और अनिल अंबानी से लेकर तमाम बड़े—बड़े पुराने औघोगिक घराने और सीआईआईए के महानिदेशक तक आने वाले हैं जो न सिर्फ बड़ा निवेश कर सकते हैं बल्कि समिट को उनके द्वारा संबोधित भी किया जाएगा। जिनकी राय पर इस समिट की सफलता निर्भर करेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ—साथ सीएम पुष्कर सिंह धामी भी इस समिट में अपनी बात निवेशकों के सामने रखने वाले हैं। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जो इस दशक को उत्तराखंड के विकास का दशक बता चुके हैं वह भी निवेशकों को यह जरूर बताएंगे कि उत्तराखंड में निवेश के भविष्य में उन्हें क्या—क्या फायदे हो सकते हैं।
समिट से पहले 2.5 लाख करोड़ के निवेश लक्ष्य से अधिक एमओयू साइन होने से यह उम्मीद जताई जा रही है कि यह लक्ष्य से कई गुना ज्यादा भी हो सकता है। जो राज्य की आर्थिक और सामाजिक स्थिति को बदलने की दिशा में बड़ी भूमिका निभा सकता है। इस समिट के लिए पुलिस प्रशासन द्वारा आज फुल ड्रेस रिहर्सल किया गया। इस प्रोग्राम की सुरक्षा में 600 पुलिसकर्मी व चार प्लाटून पीएसी की तनाती के अलावा दर्जन भर बड़े अधिकारी तैनात किए गए हैं। राज्य भर से 50 के आसपास आईएएस और पीसीएस अधिकारियों को अलग—अलग कामों की जिम्मेदारी सौंप गई है। समारोह स्थल एफ आर आई मेंं आगंतुकों के लिए मंच और बैठने के स्थान तथा आसपास डेमो स्टेशन की भव्य तैयारी की गई है जिससे उत्तराखंड की संस्कृति व प्रगति तथा प्रकृति से आंगतुकों को परिचित कराया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here