भूस्खलनः गौरीकुंड में भारी तबाही तीन दुकाने बही, 13 लोग लापता

0
128



रूद्रप्रयाग/देहरादून। केदारनाथ धाम यात्रा के मुख्य पड़ाव गौरीकुंड में डाट पुलिया के समीप देर रात तेज बारिश के बीच अचानक भूस्खलन होने के चलते तीन दुकाने बह गयी। हादसे में 13 लोग लापता बताये जा रहे है। सूचना मिलते ही आपदा प्रबन्धन विभाग मौके पर पहुंचा और रेस्क्यू अभियान शुरू किया। लेकिन लापता हुए लोगो का कुछ पता नहीं चल सका है।
पहाड़ों पर लगातार हो रही बारिश के चलते गौरीकुंड के डाट पुलिया के समीप कल लगभग 11.30 बजे अचानक भूस्खलन हुआ। जिसकी चपेट में आकर तीन दुकाने तो बही ही साथ ही दुकानों में सो रहे लगभग 13 लोग लापता हो गये। सूचना मिलने पर आपदा प्रबन्धन टीमें मौके पर पहुंची और राहत व बचाव कार्य शुरू किया गया। बताया जा रहा है कि देर रात तक चले रेस्क्यू कार्य में लापता लोगों का कुछ पता नही चल सका है। सुबह होने पर सर्च अभियान एक बार फिर शुरू कर दिया गया।
केदारघाटी में देर रात से बारिश जारी है। दुकाने नेपाली मूल के लोगों के बतायी जा रही है। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि इस घटना में लगभग 13 लोग लापता होने की आश्ंाका है। बताया कि गौरीकुंड डॉट पुलिया के समीप भूस्खलन होने के कारण तीन दुकानें बह गयी है। लापता हुए लोगों के नाम आशु उम्र 23 साल निवासी जनई, प्रियांशु चमोला पुत्र कमलेश चमोला 18 साल निवासी तिलवाड़ा, रणबीर सिंह 28 साल निवासी बस्टी, अमर बोहरा पुत्र मान बहादुर बोहरा निवासी नेपा, अनिता बोहरा पत्नी अमर बोहरा 26 साल निवासी नेपाल, राधिका बोहरा पुत्री अमर बोहरा 14 साल निवासी नेपाल, पिंकी बोहरा पुत्री अमर बोहरा 8 साल निवासी नेपाल, पृथ्वी बोहरा पुत्र अमर बोहरा 7 साल निवासी नेपाल, जटिल पुत्र अमर बोहरा 6 साल निवासी नेपाल, वकील पुत्र अमर बोहरा 3 साल निवासी नेपाल, विनोद पुत्र बदन सिंह 26 साल निवासी खानवा भरतपुर व मुलायम पुत्र जसवंत सिंह 25 साल निवासी नगला बंजारा सहारनपुर। लापता हुए सात लोग एक ही परिवार के बताये जा रहे है। समाचार लिखे जाने तक आपदा प्रबन्धन टीमों का रेस्क्यू अभियान जारी था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here