ब्लाइंड मर्डर व लूट के चार आरोपी गिरफ्तार, दो फरार

0
175
  • लूट के इरादे से आरोपियों ने की थी बुर्जुग की गला काटकर हत्या

हरिद्वार। कनखल स्थित बैरागी कैंप में रिटायर्ड सिंचाई कर्मचारी की गला रेतकर की गयी हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस ने चार हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिनकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त पाठल, चेकबुक, खून सने कपड़े व 7 हजार की नगदी भी बरामद की गयी है। हालांकि आरोपियों के दो साथी फरार है जिनकी तलाश जारी है। इस मामले में पूर्व में हत्या का शक केयर टेकर पर था लेकिन जांच के दौरान हत्यारोपी किरायेदार व उसके साथी निकले।
जानकारी के अनुसार बीती 11 सितम्बर को देर रात कनखल के बैरागी कैंप में रिटायर्ड सिंचाई कर्मचारी की गला रेतकर हत्या की गयी थी। सूचना मिलने पर पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए मृतक का खून सना शव बाथरूम से बरामद कर पड़ताल शुरू कर दी गयी। मृतक अशोक चढ्डा द्वारा सेवानिवृत्त होने के बाद बैरागी कैंप क्षेत्र में सेवाश्रम बनाया गया था जहां यात्रियों और कामगारों को किराये पर कमरे दिए जाते थे। शुरुआती जांच में सेवाश्रम में बतौर केयर टेकर नियुक्त नरेन्द्र शक के घेरे में था किन्तु पुलिस द्वारा की गई पड़ताल में हत्यारे सेवाश्रम के किराएदार और उनके साथी निकले जिन्हे मृतक द्वारा कुछ दिन पहले ही पहचान पत्र और किराया न देने पर आश्रम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। पुलिस के अनुसार सेेवाश्रम से बाहर निकाले गए किराएदार भानू और संदीप को मृतक के कमरे में मोटी रकम होने का अंदाजा था। जिसके चलते उन्होने वहंा लूट का प्लान बनाया। सेवाश्रम से बाहर निकाले गए किराएदारों ने नशे के दौरान अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर इस लूट की वारदात को अंजाम देने का प्लान बनाया था। पड़ताल के दौरान पुलिस को मिले सुराग के आधार पर पुलिस ने 3500 से अधिक ई—रिक्शा को चैक कर वारदात का खुलासा करते हुए हत्या/लूट में शामिल मुख्य आरोपी सहित 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जिनकी निशानदेही पर श्रीयंत्र पुल के नजदीक से घटना में प्रयुक्त पाठल, मृतक के खून से सने आरोपियों के कपड़े व लूट के दौरान मृतक के कुर्ते से निकाले गए 7000 रुपए भी बरामद किए गए। प्रकरण में शामिल 2 अन्य आरोपी फरार चल रहे हैं जिनकी तलाश की जा रही है। गिरफ्तार हत्यारोपियों के नाम भानु प्रताप पुत्र कटार सिंह निवासी हस्तिनापुर मेरठ हाल निवासी मायाविहार जगजीतपुर कनखल, अभिजीत उर्फ सुक पुत्र मनमोहन सिंह निवासी आर्यनगर ज्वालापुर हरिद्वार, संदीप कुमार पुत्र जवाहर सिंह निवासी पण्डितपुरी रायसी लक्सर व मनीष गिरी पुत्र जनेश्वर निवासी बैराज कालोनी मायापुर कोतवाली हरिद्वार बताये जा रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here