अबकी बार टमाटर तीन सौ पार

0
135


पिछले लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान भाजपा ने अबकी बार 300 पार के नारे को बड़े जोर शोर से उछाला था और देश की जनता ने भी उसकी झोली में 303 सीटें डालकर उसकी मुराद पूरी कर दी, आज बढ़ती महंगाई जो अब भाजपा के लिए चुनावी मुद्दा तो क्या चर्चा का विषय भी नहीं रह गई उसके नेता अब मीडिया को ज्ञान दे रहे हैं कि उसे महंगाई और टमाटर की बढ़ती कीमतों पर इतना फोकस नहीं करना चाहिए। यूपी के इन मंत्री महोदय को शायद सत्ता में आने के बाद न महंगाई की समस्या से कोई सरोकार रह गया है न ही उस गरीब जनता से जिसे नून, तेल लकड़ी के लिए पापड़ बेलने पड़ते हैं। टमाटर अब इतना महंगा हो गया कि आम आदमी ने उसे खरीदना को दूर उसके भाव भी पूछना बंद कर दिया लेकिन सवाल यह है कि आम आदमी क्या—क्या खाना छोड़ दे आज बाजार में मटर के दाम 200 के पार है तो शिमला मिर्च के दाम 160 रूपयं किलो है। आलू—प्याज 30 रूपये किलो है तो लौकी, तोरई साठ—सत्तर रुपए किलो। स्थिति यह है कि जब लहसुन 280 रूपये है तो अदरक 260 रूपये किलो मिल रहा है। हरी मिर्च की चटनी खाना भी लोगों के लिए दुर्लभ हो गया। अब चौक चौराहों पर लोग इस बात की चर्चा करते दिख रहे हैं कि अबकी बार टमाटर 300 के पार। बीते कल उत्तर प्रदेश की विधानसभा में सपा के विधायक टमाटर और हरी मिर्च की मालाए पहनकर सदन में पहुंचे और बढ़ती महंगाई का मुद्दा उठाया यहां तक तो बात सभी की समझ में आई लेकिन हद तो तब हो गई जब एक सपा नेता टमाटर की टोकरी लाकर में रखने के लिए बैंक पहुंच गया। टमाटर की महंगाई की बात यहीं समाप्त नहीं होती है। यूपी की एक मंडी से चोर कई दुकानों से 50 किलो टमाटर और अदरक चोरी करके ले गए और दरोगा जी अब सीसीटीवी फुटेज खंगाल कर चोरों को पकड़ने की बात कह रहे हैं। अवमानना केस में राहुल गांधी को सजा पर रोक का समाचार आया तो कई शहरों में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मिठाई की जगह चौक चौराहों पर लोगों को एक—एक टमाटर बांट कर सत्ता में बैठे लोगों का ध्यान खीचनें की कोशिश की और तो और कश्मीर के लोगों को अब सेव से भी मुनाफे का सौदा टमाटर नजर आ रहा है और उन्होंने टमाटर की फसल तैयार करना शुरू कर दिया है। बात टमाटर की महंगाई की नहीं है बात देश के नेताओं की उस सोच की है जब सत्ता से बाहर होते हैं तब उनके द्वारा जनता की एक—एक समस्या को गिनाया जाता है और जब सत्ता में आ जाते हैं तो उनके लिए जनता की कोई समस्या समस्या ही नहीं रहती है। 2014 के आम चुनाव में भाजपा नेताओं ने देश की गरीब जनता को अमीर बनाने और उनके अच्छे दिन लाने का भरोसा दिलाया था आज इस देश की जनता सस्ता टमाटर (130 रुपए प्रति किलो) खरीदने के लिए लाइनों में खड़ी है। टमाटर को लेकर लोगों में खूनी संघर्ष हो रहा है। टमाटर की मेटाडोर पलटी तो लूट मच गई और पुलिस को मोर्चा संभालना पड़ा। सवाल यह है कि अबकी बार भाजपा के नेताओं द्वारा नारा दिया जा रहा है कि अब की बार 350 पार तो लोग चुटकी ले रहे हैं कि अगर 350 के पार हुआ तो फिर आम आदमी आर पार ही हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here