22 लाख रूपये के नकली नोट सहित दो गिरफ्तार

0
281


यूपी में जाली नोट छाप उत्तराखण्ड में सप्लाई करना चाहते थे आरोपी

उधमसिंहनगर। नकली नोट (जाली मुद्रा) बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने दो लोगों को 22 लाख रूपये की नकली नोट व हाई क्वालिटी इंक, प्रिटंर व अन्य सामान सहित गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी यूपी में नकली नोट छाप कर उसकी सप्लाई उत्तराखण्ड में करना चाहते थे।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मंजूनाथ टीसी ने बताया कि बीते दिनों एसओजी टीम को सूचना मिली कि काशीपुर क्षेत्र में कुछ लोग नकली नोट की सप्लाई हेतू आने वाले है। सूचना पर कार्यवाही करते हुए एसओजी टीम द्वारा बताये गये स्थान काशीपुर पुराना ढेला पुल के पास घेराबंदी करते हुए सड़क किनारे बाईक के उपर बैठे राजेन्द्र सिंह उर्फ राजू पुत्र सतनाम सिंह निवासी बैराज कालोनी मौहल्ला जिला बिजनौर उत्तर प्रदेश व बूटा सिंह पुत्र नरेन्द्र सिंह निवासी भोगपुर पोस्ट बढ़ापुर तहसील थाना नगीना जिला बिजनौर को 2208500 (बाईस लाख आठ हजार पांच सौ रुपये ) नकली करेंसी नोट 500 रुपये के कुल 4417 नोट व पांच सौ के एकतरफा छपे कुल 18 नोट के साथ गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के दौरान आरोपियों की निशादेही पर बिजनौर बड़ापुर भोगपुर स्थित रोड के किनारे जनसेवा केन्द्र के अंदर से जाली नोट बनाने की मशीन मॉनिटर लेनोवो कंपनी,एक प्रिंटर एचपी कंपनी, एक मिनी सीपीयू, एक डाटा केबिल व एक पेपर कटर जिसमें ब्राईट आफिस लिखा तथा एक पेपर रिम कुल 100, एक तरफ छपे हुये जाली नोट दो बरामद किये गये है।
पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि यह नोट हम खुद भोगपुर थाना बड़ापुर जिला बिजनौर स्थित सीएचसी सेंटर के कार्यालय पर प्रिटिंग मशीन से छापते है उसी में जाली नोट बनाने की प्रिटिंग मशीन आदि उपकरण रहते हैं और इस जाली करेंसी को भीड़ भाड़ वाले शहरों में असली के रुप में बेचकर आर्थिक लाभ कमाने के लालच में आज हम इन जाली नोटों को काशीपुर क्षेत्र में असली के रुप में उपयोग करने व बेचने आये थे। बताया कि पूर्व में भी हम लोग नकली नोटों को उत्तर प्रदेश के कई जनपद मुरादाबाद, बिजनौर, रामपुर सहित कई जगह चला चुके है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here