सीएम को पता था कि खटीमा से हार जाएंगे तो क्यों लड़ेः गरिमा

0
484
kejriwal k rojgar dawe ko jhoota kha

कांग्रेस कड़ी चुनौती देगी मुख्यमंत्री धामी को

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पर झूठ बोलने व मनगढ़ंत कहानियां सुनाने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस नेत्री गरिमा दसौनी ने कहा कि जब उन्हें पता था कि खटीमा से वह चुनाव हार जाएंगे तो वह खटीमा से चुनाव लड़े ही क्यों? 70 विधानसभा सीटें थी वह कहीं से भी चुनाव लड़ सकते थे।
गरिमा दसौनी ने यह बात मुख्यमंत्री द्वारा आज चंपावत में अपनी जनसभा में कही उस बात के जवाब में कही जिसमें सीएम ने कहा था कि सर्वे में ही पता चल गया था कि हम खटीमा में चुनाव हार रहे हैं। मुझे केंद्रीय नेतृत्व ने खटीमा से चुनाव लड़ने से मना भी किया था लेकिन मेरी ही जिद थी कि खटीमा से ही लड़ूंगा। मुख्यमंत्री के इस बयान पर कांग्रेस नेत्री गरिमा दसौनी ने कहा कि सीएम झूठ बोलते हैं क्या कोई हारने के लिए भी चुनाव लड़ता है। वह अपनी हार पर अपना महिमामंडन करना चाहते हैं कि उन्होंने पार्टी की जीत के लिए खुद की हार स्वीकार कर ली।
गरिमा का कहना है कि जब वह खटीमा से चुनाव हारे थे तब भी मुख्यमंत्री थे फिर अब वह मुख्यमंत्री होते हुए चुनाव क्यों नहीं हार सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमने प्रदेश में अब तक कई मुख्यमंत्रियों को चुनाव हारते हुए देखा है। उन्होंने कहा कि भाजपा के दावा करने से ही सब कुछ नहीं होता है जनता क्या करती है इसका किसी को क्या पता है। उनसे जब धामी के मुकाबले में कांग्रेस द्वारा चुनाव मैदान में उतारी गई निर्मला गहतोड़ी के बारे में पूछा गया कि क्या वह धामी को टक्कर दे सकेंगी तो उन्होंने कहा कि क्यों नहीं दे पाएंगे? कांग्रेस ने उन्हें पूरी सूझबूझ के साथ चुनाव में उतारा है। इस सीट पर महिला मतदाताओं की संख्या तो अधिक है ही साथ ही ब्राह्मण मतदाताओं का वोट भीं मिलना तय है। कांग्रेस उन्हें पूरी ताकत के साथ चुनाव लड़वाने जा रही है। उन्होने कहा कि भाजपा को अगर अपनी जीत उतनी ही आसान दिख रही है तो भाजपा के नेताओं का चंपावत में जमावड़ा क्यों हैं?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here