सेवानिवृत्त फौजी ने की उल्टा दौड़ने में महारत हासिल

0
16

देहरादून। सेवानिवृत्त फौजी मोहन सिंह ने उल्टा दौड़ने के शौक को अब जुनून बना लिया है। वह पर्यावरण जागरूकता के लिए पहाड़ी रास्तों पर केवल 60 मिनट में 10 किलोमीटर की दौड़ को पूरा करते है।
प्रैस क्लब में पत्रकार वार्ता के दौरान यह जानकारी पिथौरागढ़ निवासी पूर्व सैनिक मोहन सिंह गुरूंग ने दी। उन्होने बताया कि 2014 में गोरखा राइफल से सेवा निवृत्त होने के बाद उन्होने उल्टा दौड़ने का फैसला लिया। उन्होने बताया कि यह कठिन परिश्रम और अभ्यास का ही नतीजा है कि वह इस अनोखी दौड़ में सफल रहे है। उन्होने बताया कि वह उल्टा दौड़ने के समय टै्रफिक कंट्रोल करने के साथ साथ लोगों की सुविधाओं का भी ख्याल रखते है। बताया कि वह हर रोज खड़ी चढ़ाई और पहाड़ी ढलानों पर एक घंटा प्रेक्टिस करते है। खास बात यह है कि जितनी तेजी से वह ढलानों पर दौड़ते है उतनी ही तेजी से चढ़ायी में भी दौड़ सकते है। वह अब राष्ट्रीय स्तर पर होने वाली प्रतियोगिताओं में अपने हुनर का प्रदर्शन करना चाहते है।

LEAVE A REPLY