सड़कों पर बच्चोें का जन्म शर्मनाक घटना

0
34

देहरादून। आज के आधुनिक तथा सुविधा सम्पन्न युग में अगर किसी राष्ट्र या राज्य की महिलाओं को सिस्टम की खामी अथवा स्वास्थ्य सेवाओं के अभाव में अगर कहीं सड़क पर या खुले में बच्चे को जन्म देने पर विवश होना पड़ता है तो सरकार और समाज के लिए इससे शर्मनाक स्थिति क्या हो सकती है।
बीते कल उत्तराखण्ड में ऐसी दो घटनाएं हुई। जिसमें एक घटना रूद्रप्रयाग में सामने आयी जहंा एक गर्भवती महिला को ऐम्बूलेंस उपलब्ध न होने पर परिजन उसे बस से ही अस्पताल ले जा रहे थे। बस मे ही प्रसव पीड़ा शुरू होने पर बस चालक व परिचालक ने भी संवेदनहीनता दिखाते हुए इस प्रसव पीड़िता को बीच रास्ते में ही सड़क पर छोड़ दिया गया। ऐसी स्थिति में इस प्रसूता को सड़क पर ही बच्चे को जन्म देना पड़ा। इस पूरे घटनाक्रम में दम्पत्ति को अपने नवजात बच्चे से हाथ धोना पड़ा। जबकि महिला की जान किसी तरह बच गयी। वहीं दूसरी घटना उत्तरकाशी जिला अस्पताल में पेश आयी जहंा डाक्टरों की लापरवाही और चिकित्सा सुविधाओं के आभाव में एक महिला और उसके नवजात बच्चे की मौत हो गयी।
ऐसा नहीं है कि उत्तराखण्ड के लिए यह कोई नई घटनाएं है आये दिन इस तरह के समाचार अखबारों में पढ़े जाते रहे है। पहाड़ों में स्वास्थ्य सेवाओं की क्या स्थिति है यह किसी से छिपा नहीं है। सरकार भले ही कुछ भी दावे करे कि उसने प्रसुति महिलाओं के लिए राज्य में खुशियों की सवारी का संचालन कर रखा है या 108 एम्बूलेंस सेवा हर क्षेत्र और घर तक उपलब्ध है लेकिन यह सच है कि समय पर अस्पताल न पहुंच पाने या फिर पहाड़ के अस्पतालों में उचित इलाज न मिल पाने के कारण आये दिन प्रसूतियों व नवजात बच्चों की मौते आम बात है। अभी बीते दिनों राज्य की राजधानी दून के सबसे बड़े दून महिला चिकित्सालय में एक महिला द्वारा शौचालय में तथा इसके कुछ दिन पूर्व एक महिला द्वारा फर्श पर ही बच्चे को जन्म देने के समाचार सुर्खियों में रहे थे।
सवाल यह है कि जब भी कोई ऐसी घटना सामने आती है तो चार दिन के लिए सरकार व स्वास्थ्य महकमा हरकत में आता दिखायी देता है लेकिन फिर हालात वैसे ही हो जाते है। सत्ता में बैठे लोगों को इस शर्मनाक स्थिति पर कभी शर्म नहीं आती है। राज्य का स्वास्थ्य महकमा खुद मुख्यमंत्री देख रहे है लेकिन स्वास्थ्य सेवाए और सड़क तथा शौचालयों में बच्चों के जन्म और उनकी मौत पर वह भी चुप्पी साधे रहते है जो शर्मनाक है।

LEAVE A REPLY