प्रश्नकाल स्थगित कर पेश किया अनुपूरक बजट

0
26

देहरादून। उत्तराखण्ड विधानसभा का शीतकालीन सत्र का आज आगाज पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी को श्रद्धाजंलि से हुआ। जिसके बाद आज प्रश्नकाल को स्थगित करते हुए वित्त मंत्री प्रकाश पंत द्वारा 2018—19 के लिए लगभग 2452 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश किया गया। खास बात यह है कि इस अनुपूरक बजट में गैरसैंण में चल रहे अवस्थापना कार्याे के लिए एक पैसा भी बजट का प्रावधान नहीं किया गया है।
उत्तराखण्ड विधानसभा के तीन दिवसीय सत्र के पहले दिन आज सदन ने दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। संसदीय कार्यमंत्री प्रकाश पंत द्वारा सदन की कार्यवाही शुरू होते ही शोक प्रस्ताव पेश किया। सदन में उपस्थित सदस्यों ने दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी को भाव पूर्ण याद किया तथा उनके साथ अपने अनुभवों को साझा किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि एनडी तिवारी के जाने से राजनीति को अपूरक क्षति हुई है। उनके साथ ही एक राजनीतिक युग का अंत हो गया है। उनके द्वारा राजनीतिक क्षेत्र में उतारे गये अनेक नेता उनकी राजनीतिक प्रतिभा और कौशल के ऋणी है
सत्र के पहले दिन आज किसी तरह का सरकारी काम काज नहीं हुआ। वित्त मंत्री प्रकाश पंत द्वारा आज प्रश्नकाल स्थगित किये जाने के कारण लगभग 12.20 बजे सदन के पटल पर अनुपूरक बजट पेश किया गया। लगभग 2452 करोड़ के इस अनुपूरक बजट में सरकार की प्राथमिकता पर स्वास्थ्य सेवाओं में विकास ही रहा। जिसमें अल्मोड़ा, हल्द्वानी और दून के लिए लगभग 75 करोड के बजट की व्यवस्था की गयी। विपक्ष भले ही सरकार पर गैरसैंण में राजधानी के लिए कराये जा रहे विकास कार्यो की उपेक्षा का आरोप लगाता रहा हो लेकिन सरकार ने इस अनुपूरक बजट में गैरसैंण के लिए वित्त का कोई प्रावधान नहीं किया है जिसे चर्चा के दौरान विपक्ष द्वारा एक मुद्दा बनाया जा सकता है। सरकार द्वारा अपने पहले बजट में गैरसैंण के लिए 25 करोड़ तथा पहले अनुपूरक बजट मेंं 10 करोड़ का प्रावधान किया था लेकिन वर्तमान अनुपूरक बजट में गैरसैंण के लिए कोई बजट नहीं रखा गया है। बजट में 71 करोड़ रूपये का प्रावधान अटल आयुष्मान योजना के लिए किया गया है। जबकि दो करोड़ रूपये अपराध पीड़ित महिलाओं की सहायता के लिए रखा गया है। लंच के बाद इस अनुपूरक बजट पर चर्चा होगी।

LEAVE A REPLY