बीपीएड बेरोजगारों ने अपनी मांगों को लेकर शुरू किया आमरण अनशन

0
28

देहरादून। प्राथमिक विघालयों में शारीरिक शिक्षकों की नियुक्ति व शारीरिक शिक्षक अनिवार्य करने हेतू सरकार के उपेक्षापूर्ण रवैये के चलते मुख्यमंत्री आवास कूच करने के दौरान गिरफ्तारी पर बीपीएड बेरोजगार संगठन ने भारी रोष जताया है। जिसके विरोधस्वरूप उन्होने अपने क्रमिक अनशन को आमरण अनशन में परिवर्तित कर दिया।
धरना स्थल पर आमरण अनशन पर दो महिलाओं बीपीएड बेरोजगारों हंसा बिष्ट व पुष्पा पाटनी ने बैठने का निर्णय लिया। इस अवसर पर पुष्पा पाटनी ने बताया कि वर्ष 2008 से हम राज्य सरकारों से बी.टी.सी. की तर्ज पर वर्षवार प्रक्रिया के सापेक्ष प्रत्येक विघालयों में शारीरिक शिक्षकों की अनिवार्य नियुक्ति की मांग करते रहे है। कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने भी पूर्व में सरकार आने पर बीपीएड की भर्ती शुरू करने का आश्वासन दिया था जो अभी तक पूरा नहीं किया गया है। उन्होने कहा कि हम बेरोजगारों के पास भूखे मरने के सिवाय कोई विकल्प नहीं है। इस अवसर पर रामलाल शाह, राजेन्द्र सिंह, चम्पा वर्मा, सुमन नेगी सहित कई लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY